पुणे (महाराष्ट्र) (एएनआई/बिजनेसवायर इंडिया)। Coronavirus देश में कोरोना वायरस की वजह से हालात काफी बिगड़े हैं। इस महामारी की वजह से देश में 14 अप्रैल तक का लाॅकडाउन है। ऐसे में देश के बड़े बिजनेस समूहों में शामिल बजाज ग्रुप इस संकट की घड़ी में लोगों की मदद के लिए आगे आया है। बजाज ग्रुप कोरोना वायरस की खिलाफ लड़ाई में 100 करोड़ रुपये स्वास्थ्य सुविधाओं पर खर्च करेगा। उसका कहना है कि पिछले 130 वर्षों के दौरान बजाज ग्रुप समुदायों, सरकार और स्थानीय अधिकारियों के साथ मजबूती से खड़ा हुआ है ताकि समाज में सकारात्मक बदलाव हो सके।

मदद राशि का अधिकांश हिस्सा ग्रामीण क्षेत्रों में होगा खर्च

बजाज ग्रुप के मुताबिक वर्तमान में देश में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में, हम सभी को पहले से कहीं अधिक तत्परता से आगे आने की जरूरत है जिससे कि यह सुनिश्चित हो सके कि हमारे देश के सभी नागरिकों को स्वास्थ्य सेवा और जीवन की अन्य आवश्यकताओं तक पहुंच है। ऐसे में सरकार और अपने 200 एनजीओ पार्टनर के नेटवर्क के साथ काम करते हुए हम उन लोगों तक पहुंच सुनिश्चित करेंगे, जो इस समय सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। इस सहायता राशि का अधिकांश हिस्सा ग्रामीण क्षेत्रों में खर्च किया जाएगा।

हेल्थकेयर इंफ्रास्ट्रक्चर को तेजी से अपग्रेड कराएगा बजाज

पुणे में हेल्थकेयर इंफ्रास्ट्रक्चर को तेजी से अपग्रेड किया जाएगा। पुणे में बजाज ग्रुप कोरोना से निपटने के लिए सरकारी और निजी क्षेत्र के अस्पतालों को आईसीयू को अच्छा बनाने, वेंटिलेटर और व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण सहित अतिरिक्त उपकरण और जरूरी समाानों की खरीद, टेस्टिंग कैपेसिटी को बढ़ाने और आइसोलेशन यूनिट को स्थापित करने में सहायता करेगा। इससे पुणे, पिंपरी-चिंचवाड़ और पुणे के ग्रामीण क्षेत्रों को राहत दी जाएगी। बजाज समूह कई प्रभावित क्षेत्रों में संगठनों के साथ काम कर रहा है।

खाद्य आपूर्ति, आवास, स्वच्छता और हेल्थकेयर पर फोकस

बजाज ग्रुप का कहना है कि बजाज समूह खाद्य आपूर्ति, आश्रय और स्वच्छता और स्वास्थ्य सेवा तक पहुंच की पहल का समर्थन करेगा। उसका फोकस सबसे ज्यादा खाद्य आपूर्ति, आवास, स्वच्छता और हेल्थकेयर पर हैं। उसकी कोशिश दिहाड़ी मजदूरों, बेघर और सड़कों पर जिंदगी काटने वाले बच्चों को तत्काल राहत दी जा सके। इसके अलावा बजाज समूह आपातकालीन सहायता श्रमिकों और स्थानीय पुलिस को सलाम करने के साथ ही इस महामारी से लड़ने के लिए उनकी हर संभव मदद करने के लिए प्रतिबद्ध है।

गोदरेज समूह ने 50 करोड़ रुपये की मदद करने की घोषणा की

वहीं गोदरेज समूह ने 50 करोड़ रुपये की मदद करने की घोषणा की है। पीआरन्यूज वायर में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक गोदरेज समूह ने महाराष्ट्र में अपना काम शुरू कर दिया है क्योंकि महाराष्ट्र देश में सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्रों में से एक है। यहां 123 से अधिक कोरोना वायरस के मामले हैं। इसके अलावा अन्य राज्यों भी मदद करेगी। गोदरेज ने बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के लिए चिकित्सा और सुरक्षात्मक उपकरण आपूर्ति के लिए 5 करोड़ रुपये दिए है। महाराष्ट्र सरकार के अस्पतालों को 115 अस्पताल बेड दान किए हैं। अंधेरी के सेवन हिल्स अस्पताल में 75 बेड का आइसोलेशन सेंटर स्थापित करने में मदद की है। गोदरेज भी स्वास्थ्य कर्मियों, सरकारी कर्मचारियों और इस महामारी के प्रसार को रोकने के लिए अथक परिश्रम करने वाले सभी लोगों का समर्थन करेगा। इसके आलावा प्रोडक्ट इन्वोंशन और सप्लाई की फील्ड में और फैक्टरी व कंस्ट्रक्शन वर्क से जुड़े लोगों की भी मदद करेगा।

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk