वाशिंगटन (एएनआई)। बलोच कार्यकर्ताओं के एक समूह ने रविवार को वाशिंगटन में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के भाषण के बीच उनका जमकर विरोध किया। बताया जा रहा है कि खान लगभग 30,000 लोगों की बड़ी सभा को संबोधित कर रहे थे, इसी बीच वहां मौजूद कुछ बलोच कार्यकर्ता अपनी सीट से खड़े हो गए और बलूचिस्तान की आजादी की मांग करते हुए भरी सभा में नारे लगाने लगे। खान, अमेरिका के तीन दिवसीय दौरे पर हैं और वह सोमवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात करने वाले हैं। गौरतलब है कि अमेरिका में कई बलोच कार्यकर्ता रहते हैं। वह पाक आर्मी द्वारा उन पर ढाए जुल्मों का मुद्दा आये दिन उठाते रहते हैं। बलोच कार्यकर्ता ट्रंप से यह अपील कर रहे हैं कि वह इमरान से मुलाकात में गायब हो रहे बलूचिस्तान के लोगों का मुद्दा उठाएं।

रवींद्रनाथ टैगोर की बात को बताया खलील जिबरान का कोट, पीएम इमरान सोशल मीडिया पर हुए ट्रोल

प्राइवेट जेट के बजाय कमर्शियल फ्लाइट से अमेरिका पहुंचे इमरान खान

बता दें कि पाक पीएम इमरान खान रविवार को प्राइवेट जेट के बजाय कतर एयरवेज की कमर्शियल फ्लाइट से अमेरिका पहुंचे। जब उनकी फ्लाइट डुललेस एयरपोर्ट पर पहुंची, तो उनके स्वागत के लिए अमेरिकी प्रशासन का कोई बड़ा अधिकारी नहीं गया था। बाद में, खान ने पाकिस्तानी दूत के घर तक मेट्रो से सफर की। इसको लेकर सोशल मीडिया पर इमरान की खूब फजीहत हो रही है। लोगों का कहना है कि अमेरिका में उन्हें तव्वजों नहीं दी गई। इसके साथ लोग यह भी कह रहे हैं कि पाकिस्तानी सरकार ने इमरान खान के आधिकारिक स्वागत / प्रोटोकॉल की व्यवस्था करने के लिए विदेश विभाग को 250,000 डॉलर देने की पेशकश की थी लेकिन इसे मना कर दिया गया। हालांकि, अमेरिकी सरकार ने बाद में अपना एक बयान जारी करके बताया कि उन्होंने खान के स्वागत के लिए प्रोटोकॉल चीफ को हवाई अड्डे पर भेजा था। ट्रंप प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी बताया कि ट्रंप और खान आतंकवाद, रक्षा, ऊर्जा और व्यापार सहित कई मुद्दों पर चर्चा करेंगे।

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk