-बारादरी इंस्पेक्टर उमेन्द्र सिंह समेत फोर्स किया बीसीबी में मार्च

-छात्र अमित की जमानत होने के बाद कॉलेज प्रशासन की उड़ी नींद

BAREILLY.

जाति और आरक्षण की आग कहीं बरेली कॉलेज का माहौल न बिगाड़ दे इस खौफ से कॉलेज और जिला प्रशासन की नींद उड़ी हुई है. वहीं दूसरी ओर छात्रा को तमाचा मारने के आरोपी छात्र अमित कुमार को जेल से जमानत मिलने के बाद कैंपस में चौकसी बड़ा दी गई है. इसी के चलते एक बार फिर बरेली कॉलेज में भारी फोर्स के कारण सन्नाटा छा गया. हाथों में बेंत और एके 47 से लैस रैपिड एक्सन फोर्स ने कैंपस में मार्च किया. फोर्स को एक्शन में देखकर स्टूडेंट्स अपनी क्लासों में चले गए. यही नहीं छात्र नेता भी एक-एक कर खिसकने लगे कि कहीं इनसे भी पूछताछ न होने लगे. बवाल की आशंका के चलते कॉलेज गेट पर दंगा नियंत्रण वाहन को खड़ा कर दिया गया.

विभाग में की पूछताछ

थर्सडे को थाना बारादरी इंस्पेक्टर उमेन्द्र सिंह फोर्स समेत बरेली कॉलेज के लॉ डिपार्टमेंट पहुंचे. विभाग में टहल रहे छात्रों से भी बात कर माहौल को जाना कि कहीं छात्रों के मन में जाति विरोधी बात तो नहीं चल रही. छात्रों से अपील करते हुए कहा कि छात्र फेसबुक पर ऐसे कमेंट न डालें जिससे माहौल खराब हो. इंस्पेक्टर उमेन्द्र सिंह ने चीफ प्राक्टर डॉ. वंदना शर्मा और लॉ विभागाध्यक्ष नसीम अख्तर से भी बात की.