-पुलिस ने हिरासत में लिए गए युवक की हालत बिगड़ने पर बदलवा दी तहरीर

>BAREILLY: कोतवाली क्षेत्र में बाइक चोरी के आरोप में पकड़े गए अनुज भटनागर की पुलिस हिरासत में तबीयत बिगड़ने के मामले में पुलिस खुद ही फंस गई. एसआरएमएस अस्पताल में दिन भर भारी पुलिस बल का पहरा रहा. अनुज को वेंटिलेटर पर रखा गया है. दिन भर पुलिस के पहरे के चलते परिजन तक को केवल दो बार ही कांच से देखने की इजाजत दी गई. अनुज की मां तक को बेटे के पास नहीं जाने दिया.

वेंटीलेटर पर रखा

खटीमा निवासी अनुज भटनागर को पुलिस ने बाइक चोरी के आरोप में थाने लाई थी. हिरासत में पूछताछ के दौरान मारपीट किए जाने से युवक की हालत बिगड़ गई थी. उसे पुलिसवाले जिला अस्पताल ले गए, हालत बिगड़ने पर एसआरएमएस अस्पताल में भर्ती कराया गया. आरोप है कि पकड़े जाने और फिर तबीयत खराब होने के बावजूद पुलिस ने अनुज के परिजन को सूचना नहीं दी. परिजनों को जब सूचना मिली तो पहुंचे लेकिन परिजनों को सिर्फ शीशे के बाहर से उसे दिख्ाया गया.

पुलिस ने बदलवा दी तहरीर

आरोपी अनुज भटनागर की हिरासत में तबीयत बिगड़ने के बाद पुलिस ने मामले की तहरीर में भी खेल किया. एक ही मामले की दो बार तहरीर बदलवाई गई, दोपहर करीब पौने चार बजे बाइक मिलने पर बाइक मालिक निखिल कुमार ने वाहन चोरी और फिर बरामद होने की सामान्य तहरीर लिखकर दी थी. अनुज की तबीयत खराब होने पर शाम करीब सात बजे निखिल को फोन कर तुरंत कोतवाली बुलाया. दोपहर में दी गई तहरीर रद कराके नई तहरीर लिखवाई जिसमें कुतुबखाना से चोरी होना और चौपुला से बरामद होने, अनुज के पकड़े जाने आदि का उल्लेख कराया. इसी तहरीर के आधार पर शाम करीब सात बजे अनुज के खिलाफ बाइक चोरी के प्रयास में नामजद मुकदमा दर्ज किया. अनुज के भाई आलोक भटनागर ने बताया कि पुलिस कस्टडी में उनके भाई को टॉर्चर किया गया है. इसकी कंप्लेन सीएम से करेंगे.