-एसएसपी ने जिले के सभी पुलिसकर्मियों को रिश्वत न लेने की दी नसीहत

-पब्लिक की शिकायतों को न सुनने पर शहामतगंज और कांकरटोला चौकी इंचार्ज को चेतावनी

>BAREILLY: बरेली में पुलिसकर्मियों पर रिश्वत लेने के एक के बाद एक आरोप लग रहे हैं, जिसको लेकर एसएसपी ने सख्त रूख अख्तियार कर लिया है. उन्होंने साफ किया कि यदि जिले में किसी भी पुलिसकर्मी ने रिश्वत ली तो उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी. इसके अलावा सस्पेंड कर विभागीय कार्रवाई भी की होगी. सनद रहे कि एसएसपी ने कुछ दिनों पहले ही रुहेलखंड चौकी पर तैनात कांस्टेबल तौकीर खां को सस्पेंड किया था. साथ ही एफआईआर दर्ज करने के निर्देश भी दिए थे.

बढ़ रहे हैं रिश्वत के मामले

बरेली में पिछले दिनों रिश्वत लेने के कई मामले सामने आ चुके हैं. कुछ दिनों पहले एक्सीडेंट के मामले में एफआईआर दर्ज करने के धमकी देकर ट्रैक्टर मालिक मेवाराम से 50 हजार रुपए की रिश्वत मांगने का मामला सामने आया था. एसएसपी ने शिकायत मिलने पर सीओ सिटी थर्ड को एफआईआर दर्ज करने और जांच का निर्देश दिया था. फिलहाल सिपाही तौकीर खां के खिलाफ एफआईआर नहीं दर्ज की गई और जांच के बाद उसे सस्पेंड कर दिया गया. इसी तरह बिहारीपुर में जांच में नाम निकालने में कोतवाली के एक एसआई पर रिश्वत मांगने का आरोप लगा था. उससे पहले भी कई रिश्वत मांगने के मामले सामने आए हैं जिनमें एसएसपी ने सख्त कार्रवाइर्1 की है.

ओआर में दी चेतावनी

पब्लिक की शिकायतों और विवेचनाओं के निस्तारण को लेकर वेडनसडे रात एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने सर्किल थर्ड का अर्दली रूम (ओआर) बारादरी थाना में लगाया. जिसमें बारादरी, इज्जतनगर और बिथरीचैनपुर के थाना प्रभारी और सभी विवेचक मौजूद रहे. एसएसपी ने बताया कि अभी भी बारादरी में 140, इज्जतनगर में 115 और बिथरी चैनपुर 30 विवेचनाएं पेंडिंग हैं. एसएसपी ने विवेचकों को 20 दिन का और समय दिया है और उसके बाद भी यदि विवेचनाएं ज्यादा पेंडिंग रहीं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. एसएसपी ने बताया कि शहामतगंज चौकी इंचार्ज और कांकरटोला चौकी इंचार्ज की पब्लिक से ज्यादा शिकायतें मिली हैं. दोनों को चेतावनी दी गई है.