- वर्ष 2016 में शिक्षा विभाग की ओर से बिजली विभाग को जारी किए गए थे रुपए

- 1162 स्कूलों में करना था कनेक्शन, 804 में करके छोड़ा

BAREILLY:

बिजली विभाग की लापरवाही के चलते 358 स्कूलों में आज भी बिजली का कनेक्शन नहीं है. जबकि शिक्षा विभाग की ओर से बिजली विभाग को भुगतान पहले ही किया जा चुका है बिना बिजली के बच्चों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है. वहीं इसको लेकर बेसिक शिक्षा विभाग का कहना है कि बिजली विभाग को इन स्कूलों में कनेक्शन करने के लिए रुपए पहले ही दिए जा चुके है. फिर भी बिजली विभाग कनेक्शन नहीं कर रहा है.

81 लाख का कर चुके भुगतान

बेसिक शिक्षा विभाग के अनुसार बिजली विभाग को वर्ष 2016 में 1162 स्कूलों में बिजली कनेक्शन करना था. इसके लिए शिक्षा विभाग की ओर से बिजली विभाग को 80 लाख 81 हजार 710 रुपए का भुगतान भी किया था, लेकिन बिजली विभाग ने केवल 804 स्कूलों में ही कनेक्शन किए. बाकी के 358 स्कूलों में कनेक्शन नहीं किया. शिक्षा विभाग ने बिजली विभाग को कई बार लेटर भी लिखा, लेकिन उन्होने कोई रेस्पांस नहीं दिया.

पैसा भी नहीं किया वापस

शिक्षा विभाग का आरोप है कि जब बिजली विभाग ने 358 स्कूलों में कनेक्शन नहीं किया तो उन्हें रुपए वापस करना चाहिए. करीब तीन साल बीत चुके हैं, लेकिन अभी तक पैसा वापस नहीं किया.

309 स्कूल में ही करना है कनेक्शन

बिजली विभाग के चीफ इंजीनियर एसके सक्सेना ने बताया कि 358 स्कूलों में नहीं बल्कि केवल 309 स्कूलों में बिजली विभाग को कनेक्शन करना है. शिक्षा विभाग ने उन स्कूलों को भी जोड़ लिया है जिनके कनेक्शन हो चुके हैं. जो स्कूल रह गए थे उनमें कनेक्शन की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.