- बीबीएयू ने बनाई आठ सदस्यीय कमेटी

- प्रो। इलैया ने बीबीएयू में बीफ खाने का किया था समर्थन

LUCKNOW: बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर सेंट्रल यूनिवर्सिटी (बीबीएयू) में प्रोफोसरों द्वारा दिए गए देश विरोधी बयान व देवी-देवताओं पर की गई टिप्पणी से नाराज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने मंगलवार को यूनिवर्सिटी में प्रदर्शन किया। इस मौके पर यूनिवर्सिटी के वीसी प्रो। आरसी सोबती ने मौजूद एबीवीपी कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर उनका ज्ञापन लिया और मामले की जांच करवाने का आश्वासन दिया। जिसके बाद छात्र शांत हुए।

आरोपी प्रोफेसर पर कार्रवाई की मांग

एबीवीपी कार्यकताओं का कहना था कि बाबा साहेब की 125वीं के अवसर पर बीबीएयू में एक सेमिनार के दौरान एक प्रोफेसर ने हिन्दू देवी देवताओं पर विवादित बयान दिया था। इससे नाराज छात्र मंगलवार को यूनिवर्सिटी पहुंचकर विरोध प्रदर्शन करने लगे। राहुल वाल्मिकी और सुशील कुमार बौद्ध के नेतृत्व में एकत्रित हुए कार्यकर्ताओं ने कहा कि परिसर में किसी धर्म को लेकर टिप्पणी करना अनुचित है। इसके लिए दोषी लोगों पर तुरंत कर्रवाई की जानी चाहिए।

वीसी ने मामले की जांच के लिए बनाई कमेटी

एबीवीपी की ओर से इस मामले की जांच के लिए वीसी को ज्ञापन सौंपा गया था। जिस पर वीसी प्रो। आरसी सोबती ने इस पूरे घटनाक्रम की जांच के लिए आठ सदस्यीय कमेटी का गठन कर दिया है। वीसी ने पूरे मामले की जांच के लिए प्रो। डीपी सिंह की अध्यक्षता में कमेटी बनाई है। जिसमें प्रो। आरवी राम, प्रो। केएल महावर, प्रो। प्रीति सक्सेना, प्रो। रिपू सूदन सिंह, प्रो। सुदर्शन वर्मा, प्रो। कमल जयसवाल और डिप्टी रजिस्ट्रार को इस पूरे मामले की जांच की जिम्मेदारी सौंपी हैं।

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner