-सिटी में बेकाबू होता जा रहा है बिजली संकट, 10-12 घंटे बिजली मिलना भी मुश्किल

-रोस्टरिंग शिड्यूल ध्वस्त, इमरजेंसी रोस्टरिंग और लोकल फाल्ट्स ने किया बेहाल

- यूपीपीसीएल के एमडी शहर में होने के बावजूद सैटरडे रात 8 बजे तक 7 घंटे की कटौती

kanpur@inext.co.in

KANPUR: पॉवर रोस्टरिंग कानपुराइट्स के लिए कोई नई समस्या नहीं है. लेकिन बीते कुछ दिनों से शहर को ऐतिहासिक बिजली संकट से जूझना पड़ रहा है. घोषित रोस्टरिंग, इमरजेंसी रोस्टरिंग और फाल्ट्स ने लोगों की हालत खराब कर दी है. न दिन को चैन मिल रहा है और न रात को नींद. सैटरडे को ही रात आठ बजे तक 7 घंटे से अधिक केवल पॉवर रोस्टरिंग हुई. लोकल फाल्ट्स की तो कोई गिनती ही नहीं. ये हाल तब रहा जब यूपीपीसीएल के एमडी एपी मिश्रा खुद शहर में थे. हालत इतने बदतर हो चुके हैं कि इस उमसभरी गर्मी में कुल मिलाकर कानपुराइट्स को क्0 से क्ख् घंटे भी बिजली मिलना मुश्किल हो गई है.

पानी को भी तरसा रही बिजली

सिटी में पॉवर रोस्टरिंग का सारा शिड्यूल ध्वस्त हो गया है. सबस्टेशन, फीडर और ट्रांसमिशन स्टेशन ओवरलोड होने के कारण अलग से लोकल कटौती हो रही है. इसके बाद ब्रेकडाउन व फाल्ट्स की लाइन लग जाती है. ट्रांसफॉर्मर जल जाते हैं, अंडरग्राउंड केबल फाल्ट हो जाते हैं. जिसके कारण दिन-दिनभर तक लाइट नहीं मिलती है. लोग बिजली के साथ बूंद-बूंद पानी को तरस जाते हैं. जैसे-तैसे लाइट आई भी तो वोल्टेज बहुत लो रहता है. जिसकी वजह से इस उमस भरी गर्मी एसी, कूलर, पंखे सब बेकार साबित हो रहे हैं.

जुलाई ने और रुलाया

जबरदस्त बिजली संकट का सिलसिला तो जून में ही शुरू हो गया था. लेकिन जुलाई में स्थिति और भी खराब हो गई है. पॉवर रोस्टरिंग का तो कोई शिड्यूल नहीं रह गया है. सैटरडे को ही सुबह भ्.फ्0 बजे करीब बिजली गुल हो गई. म्.ब्0 बजे करीब आई. बिजली गुल हो जाने से वाटर सप्लाई भी ठप हो गई. लोगों दिनभर पानी के लिए परेशान रहे. अभी दो घंटे भी नहीं बीते थे कि 8.फ्0 बजे से फिर से बिजली कटौती शुरू हो गई और लाइट क्0.फ्0 बजे के बाद ही आई. रोस्टरिंग का सिलसिला यही नहीं थमा. दोपहर क् से फ् बजे तक फिर बिजली गुल हो गई. शाम को म्.0भ् बजे शहर अन्धेरे में डूब गया और फिर रात 8.0भ् बजे के बाद ही शहर रोशन हुआ. इसके कारण खासतौर पर रोजेदारों को परेशानियों का सामना करना पड़ा.

ट्रांसफॉर्मर जलने का नया रिकॉर्ड

ट्रांसफॉर्मर्स जलने का भी केस्को ने एक नया रिकॉर्ड बना दिया है. इस साल जनवरी से केवल जून तक ही 7ब्0 ट्रांसफॉर्मर जल चुके हैं. केवल जून में ख्09 ट्रांसफॉर्मर जल चुके हैं. इस साल जनवरी से लेकर जून तक इतने अधिक ट्रांसफॉर्मर कभी नहीं जले. जबकि मार्च में तो केवल भ्0 ही ट्रांसफॉर्मर जले थे. केस्को का ट्रांसफॉर्मर बदलने का सिस्टम भी ऐसा है कि जले हुए ट्रांसफॉर्मर की जगह नया ट्रांसफॉर्मर लगाने में ख्ब्-ख्ब् घंटे से भी अधिक समय लग जाता है. पिछले दिनों ही लाल स्कूल के पास और जरीबचौकी डिवीजन का जला हुआ ट्रांसफॉर्मर ना बदले जाने से गुस्साई भीड़ सड़क पर आ गई थी.

ब्ब् घंटे ठप रहा सबस्टेशन

केस्को की हिस्ट्री में शायद ये पहला मौका होगा जब कोई सबस्टेशन लगातार ब्ब् घंटे तक ठप रहा हो. 9 जुलाई की सुबह साइकिल मार्केट सबस्टेशन जलने से दो लाख की आबादी क्क् जुलाई की सुबह तक बिजली पानी संकट से जूझती रही. जबकि इससे पहले इससे पहले 8 जुलाई की रात क्क् बजे से लेकर सुबह 8.फ्0 बजे तक लगातार नौबस्ता और पशुपति नगर सबस्टेशन भी ठप रहे. जिसके चलते लोग रोड पर उतरने को मजबूर हो गए थे. उन्होंने नौबस्ता हाइवे पर बवाल काटा था. फ् जुलाई को और भी हाल भी खराब हो गया. सर्वोदय नगर और आरटीओ सबस्टेशन लगातार ख्0 घंटे तक ठप रहे. नौबत ये हो गई कि सर्वोदय नगर सबस्टेशन पर लोगों ने तोड़फोड़ की और आरटीओ सबस्टेशन में आगजनी की.

पानी मांग रहे केस्को ऑफिसर

बिजली संकट का हाल ये हो गया है कि संभालना केस्को ऑफिसर्स के बूते में नहीं रह गया है. वे फाल्ट, ब्रेकडाउन, ट्रांसफॉर्मर जलने, ओवरलोडिंग के कारण लोकल कटौती को रोक पाना अब उनके बस में नहीं रह गया है. इसलिए अब वे भगवान को मदद मांग रहे हैं. जल्दी से मानसून बरसात शुरू हो जाए. वरना कहीं हाल और भी खराब ना हो जाए.

.............

सैटरडे को पॉवर रोस्टरिंग

शाम म्.0भ् से 8.0भ् बजे तक

दोपहर क्.0 से फ्.0 बजे तक

सुबह 8.फ्0 से क्0.फ्0 बजे तक

सुबह भ्.फ्भ् से म्.फ्भ् बजे तक

........

केस्को बता रहा आंकड़ेबाजी

डेट- कटौती-बिजली मिली

क्क् जुलाई- ब्.भ्0 घंटे-क्8.ब्7 घंटे

क्0 जुलाई- ब्.ख्भ् घंटे- क्8.भ्भ् घंटे

9 जुलाई- ब्.भ्भ् घंटे- क्7.फ्8 घंटे

8 जुलाई- ब्.क्भ् घंटे- क्9.ख्9 घंटे

7 जुलाई- ख्.फ्0 घंटे- ख्0.ख्0 घंटे

( डेटा केस्को के मुताबिक है,हकीकत तो कुछ और है)

..........

ट्रांसफॉर्मर जले

मंथ- ट्रांसफॉर्मर जले

जून- ख्09

मई- क्फ्7

अप्रैल- 87

मार्च- भ्0

फाईनेंशियल ईयर- ट्रांसफॉर्मर जले

ख्0क्ब् --- 7ब्0

ख्0क्ख्-क्फ् --- क्ख्भ्8

ख्0क्0-क्ख् ---- क्क्भ्8 ............

बढ़ते जा रहे ब्रेकडाउन,फाल्ट

फाइनेंशियल ईयर- फाल्ट की संख्या - टोटल टाइम (मिनट में)

ख्0क्ख्-क्फ् -- फ्9ब्फ्भ् --- भ्0097.ख्भ्

ख्0क्क्-क्ख् --- फ्8ब्00--- ब्भ्88क्.फ्7

ख्0क्0-क्क् --- फ्ब्0क्7--- ब्फ्ब्ब्9.ख्7

(ये तो केस्को का डेटा है, इससे हकीकत खुद जान सकते हैं)

..................

ब्रेकडाउन से मचा हाहाकार

क्क् जुलाई -ट्रांसफॉर्मर लीकेज के कारण सिटी सेंटर, मालरोड आदि मोहल्ले की लाइट सुबह क्क् से शाम भ्.ब्0 बजे तक गुल रही

क्0 जुलाई- केबल फाल्ट के कारण गंगागंज रतनपुर की देररात क् बजे गुल हुई और करीब ख्0 घंटे बाद आई

9 जुलाई- लाइन खराबी की वजह से जवाहर नगर व जरीब चौकी सबस्टेशन रात क्क्.फ्0 से रात क् बजे तक ठप रहे

8 जुलाई- हाईटेंशन लाइन टूटने के कारण नौबस्ता व पशुपति नगर देररात क्क् बजे ठप हुए. फिर डेढ़ लाख की आबादी को 9 घंटे बाद ही लाइट मिल सकी. लोग बिजली पानी के लिए तरसते रहे.

7 जुलाई- इंसुलेटर टूटने व केबल बॉक्स फटने से विकास नगर दोपहर फ्.फ्0 बजे से देररात तक ठप रहा. गुस्साई भीड़ ने सड़क पर उतरकर बवाल काटा

म् जुलाई- लाइन फाल्ट के कारण जाजमऊ सबस्टेशन सुबह भ् बजे से दोपहर ख् बजे तक ठप रहा. लोग पानी के लिए परेशान हो गए.

.........