-आने वाली पीढि़यों की रक्षा के लिए पर्यावरण संरक्षण को जागरूकता जरूरी

PATNA: सीएम नीतीश कुमार ने शुक्रवार को फिर दोहराया कि जेनेटिकली मोडिफाइड क्रॉप (जीएम क्रॉप) को रोकने पर विचार किया जाना चाहिए। इससे पर्यावरण को भी नुकसान हो रहा है। आनेवाली पीढि़यों की रक्षा के लिए हम सभी का यह दायित्व है कि पर्यावरण को सुरक्षित रखें। इस बारे में लोगों को जागरुक करें। जल-जीवन-हरियाली अभियान के माध्यम से यहां पर्यावरण संरक्षण के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाने का काम चल रहा है। विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री सचिवालय स्थित संवाद कक्ष से आयोजित वेबिनार में मुख्यमंत्री ने यह बात कही। वेबिनार का विषय था-कोरोना : मानवता को प्रकृति का संदेश। मुख्यमंत्री ने कहा कि जीएम क्रॉप ठीक नहीं है। हमलोगों के विरोध पर यह रूका भी। पर्यावरण को केंद्र में रख इस पर रिसर्च हो। बीटी कॉटन में इस पर काम हुआ। इसका नुकसान नहीं हो रहा क्या? मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के हरित आवरण क्षेत्र को बढ़ाने के लिए वर्ष 2012 में हरियाली मिशन की शुरूआत की गयी थी और 24 करोड़ पौधरोपण का लक्ष्य रखा गया। उस दौरान 22 करोड़ से ज्यादा पौधरोपण हुआ। अब बिहार का हरित आवरण 15 प्रतिशत हो गया है। इसे 17 प्रतिशत पर ले जाने के लक्ष्य पर काम चल रहा है।

Posted By: Inextlive