सुलभ इंटरनेशनल की मदद लेगा पटना नगर निगम

PATNA (5 June)

पटना के नवरत्न प्रोजेक्ट में से एक मॉड्यूलर टॉयलेट जल्द ही अनलॉक होकर पटनाइट्स की सुविधा के लिए उपलब्ध होंगे। नवरत्न प्रोजेक्ट्स के वर्तमान हालात की जमीनी सच्चाई पर दैनिक जागरण आईनेक्स्ट द्वारा नगर निगम के नवरत्न प्रोजेक्ट फेल हेडिंग से खबर प्रकाशित होने के बाद अधिकारियों ने इसे गंभीरता से लेते हुए काम शुरू कर दिया है। इसी के मद्देनजर नवरत्न प्रोजेक्ट में से एक मॉड्यूलर टॉयलेट खोलने के लिए कार्रवाई शुरू हो गई है। कई महीनों से बंद पड़े इन टॉयलेट्स के संचालन में अब सुलभ इंटरनेशनल की सेवा ले जाएगी। बता दें कि पटना नगर निगम जल्द ही इस प्रस्ताव को स्थाई समिति और बोर्ड में रखने वाला है अगर इसे मंजूरी मिल जाती है तो न सिर्फ यह ताले खुलेंगे बल्कि लोगों को इसकी सुविधाएं भी मिलने लगेंगी।

फ्री ऑफ कॉस्ट फैसिलिटी

सुलभ इंटरनेशनल द्वारा संचालित होने के बाद पटनाइट्स को मॉड्यूलर टॉयलेट यूज करने के लिए किसी प्रकार का कोई शुल्क नहीं देना होगा। यह पूरी तरह से फ्री ऑफ कॉस्ट होगा। पटना नगर निगम या सुलभ इंटरनेशनल इसके लिए कोई भी चार्ज नहीं लेगा। नगर निगम इसके मेंटेनेंस के लिए हर महीने 6 लाख रुपए खर्च करेगा। सालाना खर्च की बात करें तो सभी टॉयलेट के रखरखाव के लिए 72 लाख रुपए सुलभ इंटरनेशनल को दिए जाएंगे। बता दें कि नगर निगम द्वारा बनाए गए इन 120 मॉड्यूलर टॉयलेट में 1.80 करोड़ रुपए खर्च हुए थे। हर टॉयलेट के बनाने में डेढ़ लाख रुपए के लगभग खर्च आये थे।

इन इलाकों में लगे हैं मॉड्यूलर टॉयलेट

मौर्यालोक, राजापुर पुल, हड़ताली मोड़, हाई कोर्ट मोड़, बोरिंग रोड चौराहा, बोरिंग कैनाल रोड, गांधी मैदान, अशोक राजपथ, पीएमसीएच, इको पार्क, इको पार्क रोड, बाकरगंज, खेतान मार्केट, बिस्कोमान चौराहा

एक नजर :

- 25 करोड़ रुपए से बनने थे 500 टॉयलेट

-2 करोड़ करोड़ खर्च कर बने 120 टॉयलेट

-20 करोड़ टाटा कंपनी और 5 करोड़ रुपए एचडीएफसी बैंक को करना था

-5 बजे सुबह शौचालयों की होनी थी सफाई लेकिन त्रिशला सिक्योरिटी एजेंसी ने कर दिया था मना

- 60 लाख महीने के खर्च करेगा निगम

इसके लिए प्रपोजल तैयार कर लिया गया है। स्थाई समिति में इसे रखा जाएगा। जल्द ही बंद पड़े सभी मॉड्यूलर टॉयलेट के ताले खुलेंगे और लोगों को सुविधाएं मिलेंगी।

- हिमांशु शर्मा, नगर आयुक्त, पटना नगर निगम

Posted By: Inextlive