अधूरे जांच से मायूस हो लौट रहे डायबिटीज पेशेंट

PATNA :

पटना के सुपर स्पेशलिटी गाíडनर रोड हॉस्पिटल में फिलहाल पैथोलॉजिकल जांच नहीं होने से यहां डायबिटीज पेशेंट्स को परेशानी हो रही है। आमतौर पर यहां के सभी पेशेंट हॉस्पिटल के ही पैथोलॉजी लैब में ब्लड टेस्ट कराते रहे हैं। अस्पताल प्रशासन से मिली जानकारी के मुताबिक लॉकडाउन के बाद जांच शुरू कर दी गई थी लेकिन बीच में कुछ समस्याएं आने लगीं। इसे जल्द ही दूर कर व्यवस्था को ठीक किया जाएगा। हॉस्पिटल के सीएमओ डॉ अजय कुमार ने बताया कि सोमवार से जांच शुरू की जा सकती है। हालांकि शुक्रवार को कई पेशेंट जांच नहीं होने की वजह से लौट गए। जिन पेशेंट को जानकारी नहीं थी, वे गेट पर ही वेट कर रहे थे, लेकिन जांच नहीं हो होने की सूचना से वे मायूस होकर लौट गए। जानकारी हो कि यहां पटना ही नहीं आसपास के कई जिलों से भी डायबिटीज पेशेंट इलाज के लिए आते हैं।

लॉकडाउन के बाद घटे पेशेंट

आम दिनों में गार्डिनर रोड हॉस्पिटल में लगभग 500 पेशेंट इलाज के लिए आ रहे थे। लेकिन लॉकडाउन के बाद से हॉस्पिटल में अब एक चौथाई पेशेंट ही आ रहे हैं। सीएमओ डॉ अजय कुमार ने बताया कि आने जाने की समस्या और एहतियात बरते जाने को लेकर अभी भी कई पेशेंट हॉस्पिटल नहीं पहुंच रहे हैं। यहां लॉकडाउन के बाद से हॉस्पिटल खोल दिया गया है, लेकिन कोरोना को देखते हुए पूरी सावधानी बरती जा रही है। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है। जो भी पेशेंट रजिस्ट्रेशन करा रहे हैं उन्हें मेन एंट्रेंस के पास ही वेट करना होता है और गार्ड की के द्वारा आवाज दिए जाने के बाद पेशेंट डॉक्टर के पास पहुंचते हैं।

पटना के दूसरे सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल राजवंशी नगर के हड्डी हॉस्पिटल में भी पेशेंट रजिस्ट्रेशन में कमी आई है। हॉस्पिटल के डायरेक्टर डॉ सुभाष चंद्रा ने बताया कि आम दिनों में 600 पेशेंट आ रहे थे अब मात्र 200 के करीब पेशेंट रजिस्ट्रेशन हो रहा है। यहां अब जांच आदि की सुविधा चालू है और ऑपरेशन भी किए जा रहे हैं।

Posted By: Inextlive