-वाहनों का रजिस्ट्रेशन, रिन्यूअल और फिटनेस फीस होगा महंगा

-चुकाना पड़ेगा दस गुन तक अधिक शुल्क

अगर आप वाहन खरीदना चाहते हैं तो जरा जल्दी करें कहीं ऐसा ना हो कि आपसे देरी हो जाए और वाहन के रजिस्ट्रेशन के लिए वर्तमान से 10 गुना अधिक चार्ज चुकाना पड़े. बिजली के बाद अब गाड़ी के रजिस्ट्रेशन पर झटका लगने वाला है. सरकार गाडि़यों के रजिस्ट्रेशन और रिन्यूअल की फीस बढ़ाने की तैयारी में है. दोपहिया और चार पहिया वाहनों के रजिस्ट्रेशन और रिन्यूवल चार्ज में जल्द ही 10 गुना तक बढ़ोतरी की जा सकती है. इसका मसौदा तैयार कर चुका है.

इस तरह से होगा चार्ज

एआरटीओ सर्वेश सिंह के अनुसार नए रजिस्ट्रेशन चार्ज लागू होने के बाद पेट्रोल या डीजल कार का रजिस्ट्रेशन कराने पर पांच हजार रुपए देने पड़ेंगे. जबिक इसके रिन्यूअल पर 10 हजार रुपए तक का चार्ज लगेगा. बता दें कि अभी इसके लिए महज 600 रुपए ही खर्च करने पड़ते हैं. वहीं लाइट मोटर व्हीकल के रिन्यूअल की नई फीस 15 हजार रुपए तय की गई है. टू व्हीलर के रजिस्ट्रेशन की फीस एक हजार व रिन्यूवल की दो हजार तय की गई है. वर्तमान में दोपहिया वाहनों के लिए रजिस्ट्रेशन चार्ज महज 50 रुपए है.

40 रिन्यूअल के लिए

ट्रांसपोर्ट के लिए इस्तेमाल होने वाले गाड़ी के न्यू रजिस्ट्रेशन के लिए 10 हजार और रिन्यूअल के लिए 20 हजार रुपए की फीस तय की गई है. यही नहीं मीडियम साइज के माल व यात्री वाहन के न्यू रजिस्ट्रेशन के लिए अब 20 हजार रुपए, जबकि रिन्यूअल के लिए 40 हजार रुपए की खर्च करने होंगे.

कार स्क्रैप पर मिलेगी छूट

पुराने कार को स्क्रैप कर नई कार खरीदने पर रजिस्ट्रेशन फीस में छूट देने की तैयारी की जा रही है. हालांकि इसका लाभ तभी मिलेगा, जब स्क्रैप कार का सर्टिफिकेट दिखाएंगे. साथ ही समान कैटेगरी की कार खरीदने पर ही छूट का लाभ उठाया जा सकेगा.

इलेक्ट्रिक वाहनों को छूट

इलेक्ट्रिक व्हीकल को रजिस्ट्रेशन में छूट मिलेगी. यदि कोई व्यक्ति अपनी पुरानी गाड़ी को किसी रजिस्टर्ड स्क्रैप डीलर से स्क्रैप कराकर सर्टिफिकेट लेता है तो नई इलेक्ट्रिक व्हीकल खरीदते समय उसे रजिस्ट्रेशन में बड़ी छूट मिलेगी. साथ ही रिन्यूअल में देरी पर 300 रुपए प्रतिमाह की लेट फीस लगाई गई है. दरअसल सरकार पेट्रोल-डीजल के बजाए इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ाना चाहती है, यही वजह है कि पेट्रोल-डीजल वाहनों के रजिस्ट्रेशन व रिन्यूअल में बढ़ोतरी की जा रही है.

फिटनेस फीस भी तय

15 साल से पुरानी गाडि़यों की फिटनेस फीस भी तय की गयी है. टू व्हीलर की मैनुअल फिटनेस फीस 400 और ऑटोमेटेड के लिए 800 रुपए तय किए गए हैं. थ्रीव्हीलर के लिए मैनुअल 800 रुपए और ऑटोमेटेड के लिए 1200 रुपए की फीस तय की गई है. 15 साल पुरानी कार रखने वालों को अब छह माह में वाहन का फिटनेस सर्टिफिकेट रिन्यू कराना होगा. जोकि पहले एक साल में करना होता था. फिटनेस टेस्ट में देरी पर 50 रुपए डेली के हिसाब से जुर्माना लगाया जाएगा.

ये होंगे रजिस्ट्रेशन के नए चार्ज

10

गुने से अधिक करना पड़ेगा भुगतान

05

हजार रुपए देने होगी नए वाहन के लिए

10

हजार रुपए ट्रांसपोर्ट वाहनों की फीस

01

हजार रुपए होगा शुल्क टू व्हीलर का

05

हजार रुपए फीस होगी प्राइवेट कार की

रिन्यूअल का भी रेट बढ़ेगा

15

हजार रुपए होगी लाइट मोटर व्हीकल

20

हजार रुपए शुल्क ट्रांसपोर्ट वाहनों के लिए

10

हजार प्राइवेट कार

02

हजार रुपए टू व्हीलर रिन्यूअल

शुल्क वृद्धि के नए मसौदे को लेकर मुख्यालय स्तर आदेश जारी हुआ है. फिलहाल यहां अब तक आदेश जारी नहीं हुआ है. नए नियम का नोटिफिकेशन प्राप्त होते है इसे लागू किया जाएगा.

सर्वेश सिंह, एआरटीओ