- बीएड कॉलेज स्टूडेंट्स व टीचर्स के लिए एनसीटीई ने जारी की गाइडलाइन

- बॉयोमीट्रिक अटेंडेंस लेने के लिए कॉलेजेज को 30 दिन की मोहलत

Gorakhpur@inext.co.in
GORAKHPUR:  नेशनल काउंसिल फॉर टीचर एजुकेशन (एनसीटीई) की तरफ से सभी यूनिवर्सिटीज और संबद्ध कॉलेजेज के लिए नोटिफिकेशन जारी कर निर्देश दिया गया है कि बीएड की पढ़ाई करने वाले स्टूडेंट्स की बायोमीट्रिक अटेंडेंस कंपल्सरी होगी. इसके लिए सभी यूनिवर्सिटीज और कॉलेजेज को बायोमीट्रिक मशीन लगाने के लिए 30 दिन की मोहलत दी गई है. यही नहीं बायोमीट्रिक मशीन पर अटेंडेंस बीएड में पढ़ाने वाले टीचर्स की भी होगी जिसकी पूरी रिपोर्ट तैयार होगी.

आज से डायरेक्ट एडमिशन
डीडीयूजीयू से संबद्ध ज्यादातर सेल्फ फाइनेंस कॉलेजेज में एडमिशन प्रक्रिया पूरी कर ली गई है. डायरेक्ट एडमिशन की प्रक्रिया शुक्रवार से शुरू होने वाली है. लेकिन सूत्रों की मानें तो डायरेक्ट एडमिशन स्टूडेंट वहीं ले रहे हैं जहां उन्हें इस बात की सुविधा मिल रही है कि वे कॉलेज रेग्युलर नहीं जाएंगे. इसके लिए वह कॉलेज को मुंहमांगी रकम भी देने को तैयार हैं, लेकिन ऐसा नहीं चल सकेगा. जो कॉलेज इस तरह सुविधा शुल्क लेकर बीएड स्टूडेंट्स को सुविधा प्रदान कर रहे थे वे इस सेशन से नहीं कर पाएंगे. क्योंकि उन्हें किसी भी दशा में हर स्टूडेंट और टीचर की अटेंडेंस बायोमीट्रिक लेना अनिवार्य होगा. एनसीटीई से मिली जानकारी के मुताबिक अटेंडेंस का रिकॉर्ड टीचर एजुकेशन इंस्टीट्यूशन (टीईआई) की वेबसाइट पर एक हफ्ते में अपडेट करना होगा जिसकी पूरी मॉनिटरिंग एनसीटीई की टीम रेग्युलर करेगी. एनसीटीई के इस निर्देश का कड़ाई से पालन नहीं किया जाता तो सेक्शन 17 के तहत कॉलेज की मान्यता समाप्त कर दी जाएगी. इस निर्देश के बाद से बीएड कॉलेजेज में हड़कंप मच गया है.

डीडीयूजीयू में बीएड सीट - 50

डीडीयूजीयू से संबद्ध एडेड कॉलेज - 6

डीडीयूजीयू से संबद्ध सेल्फ फाइनेंस कॉलेज - 93

डीडीयूजीयू से संबद्ध कुल बीएड कॉलेज - 101

एनसीटीई की सख्त गाइडलाइन आ गई है कि घर बैठकर बीएड की डिग्री नहीं दी जा सकती है. इसके लिए किसी भी दशा में कॉलेज प्रबंधन को बायोमीट्रिक मशीन लगाना अनिवार्य होगा. अगर वे नहीं लगवाते हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.
डॉ. सुधीर राय, महामंत्री, स्ववित्त पोषित महाविद्यालय प्रबंधक महासभा