क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : बिष्टुपुर थाना के इंस्पेक्टर श्रीनिवास के नेतृत्व में पुलिस टीम ने साइबर क्राइम गिरोह के पांच सदस्यों को दबोचा है. इनके पास से 52 हजार रुपये, चार मोबाइल फोन और आइसीआइसीआइ बैंक का एटीएम बरामद किए गए हैं. गिरफ्तार आरोपितों में परसुडीह बावनगोड़ा सरजामदा निवासी विवेक कुमार चौबे उर्फ विक्की, राहुल कुमार सिंह, बागबेड़ा हरहरगुटु सोमाइ झोपड़ी के जग्गनाथ केसरी उर्फ जग्गू, सुरई मुर्मू उर्फ टाइगर और फागू सोरेन शामिल हैं. सभी ने राजेश गोप को होम क्रेडिट से मिले लोन की राशि एक लाख की निकासी धोखाधड़ी कर ली थी. 22 जनवरी 2018 को बिष्टुपुर थाना में आइटी एक्ट के तहत राजेश गोप की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज की गई थी.

विवेक है गैंग का सरगना

सिटी एसपी प्रभात कुमार ने शुक्रवार को बताया कि गिरोह का सरगना विवेक चौबे है. पूछताछ में उसने बताया कि वह पहले होम क्रेडिट फायनांस में काम करता था. गम्हरिया की एक मोबाइल दुकान में फायनांस का काम करने के दौरान एक ग्राहक से धोखाधड़ी कर उसके नाम से मोबाइल फोन फायनांस करा लिया था. इस आरोप में वह जेल भी जा चुका है.

ऐसे कर ली एटीएम से अवैध निकासी

जेल से रिहा होने के बाद विवेक पहले काम करने वाले एर सहयोगी से मिलकर होम क्रेडिट का आइडी और पासवर्ड हासिल कर लिया. उसका प्रयोग करने पर उसे जानकारी हुई कि राजेश गोप नाम के एक आदमी को होम क्रेडिट से 1 लाख 22 हजार 500 रुपये का लोन मिला हैं. इसके बाद विवेक कुमार चौबे ने चोरी के एक सिम से राजेश गोप को फोन कर बिस्टुपुर महिंद्रा शोरूम के पास लोन वेरीफाइ करने का बहाना बनाकर बुलाया. राजेश गोप के आने पर विवेक चौबे ने राहुल कुमार सिंह और जग्गनाथ सोरेन ने राजेश गोप से उसका मोबाइल फोन ले लिए. मोबाइल पर गूगल प्ले एप्लिकेशन से उसके बैंक खाते से अपने सहयोगी फागू सोरेन और सुरई मुर्मू के खाते में 1 लाख रुपया ट्रांसफर कर दिया. राजेश गोप के जाने के बाद एटीएम से रुपये की निकासी कर ली.

ऐसे खुला राज, पकड़े गए सभी

एसपी ने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही थी. पुलिस राजेश गोप को फोन से बुलाने वाले विवेक कुमार चौबे तक पहुंच गई. गिरोह के सभी लोग एक-एक कर पकड़ लिए गए. राहुल कुमार सिंह के पास से 32 हजार, विवेक कुमार चौबे से 20 हजार, जग्गनाथ केसरी उर्फ जग्गू के पास से घटना में प्रयोग किया गया मोबाइल फोन और सिम कार्ड बरामद कर लिया गया है. जग्गनाथ केसरी की निशानदेही पर एटीएम से रुपये निकासी में प्रयुक्त एटीएम कार्ड भी बरामद कर लिया गया.