- मुस्लिम वोटरों को किया आगाह, बोली बीएसपी ही करेगी बीजेपी से मुकाबला

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW :

बसपा सुप्रीमो मायावती ने आरोप लगाया है कि बीजेपी मुस्लिम वोटों के बंटवारे के लिए सपा मुखिया पर कांग्रेस के साथ गठबंधन का दबाव बना रही है. सोमवार को पार्टी दफ्तर में मीडिया से बात करते हुए मायावती ने यह बातें कहीं. मायावती ने कहा कि गठबंधन के फैसले पर बीजेपी के नफे नुकसान का आंकलन होने के बाद लगेगी. मायावती ने कहा कि मुस्लिम समाज के लोगों को सावधान रहने की जरूरत है. खुद को मुस्लिम समाज का हितैषी बताते हुए कहा कि बिहार की तर्ज पर एकजुट होकर वोट देना जरूरी है. मायावती ने कहा कि सपा अपनी हार मान चुकी है इस लिए गठबंधन की बात कर रही है ताकि अपनी हार का ठिकरा कांग्रेस के सिर फोड़ सके. जबकि सपा ने पिछला चुनाव अकेले ही लड़ा था और पूर्ण बहुमत की सरकार बनायी थी. मायावती ने दावा किया कि यादव वोट दो खैमों में बंट गया है. इसलिए बीजेपी से मुकाबला करने की ताकत सिर्फ बीएसपी के पास है.

प्रधानमंत्री पर भी बोला हमला

मायावती ने एक बार फिर नोटबंदी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला और कहा कि वह किस्म-किस्म के घिनौने हथकंडे इस्तेमाल कर रहे हैं. इसके बावजूद लोगों में जबर्दस्त रोष और आक्रोश है. मायावती ने कहा कि बीजेपी अपनी लोकसभा चुनावी वादा खिलाफी व नोटबन्दी से लोगाें का ध्यान बांटने के लिये अयोध्या के विवादित स्थल को अपने राजनैतिक स्वार्थ में भुनाने की भी कोशिश कर सकती है. मायावती ने आशंका जाहिर की कि बीजेपी प्रदेश में चुनाव से पहले दंगे भी करा सकती है.

मोदी के चेहरे से गायब हो गया है नूर

मायावती ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के उस बयान का भी जवाब दिया जिसमें उन्होंने मायावती के चेहरे का नूर गायब होने की बात कही थी. मायावती ने कहा कि अमित शाह अपना व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का चेहरा गौर से देखें. नोटबन्दी के कारण आमजनता में इसके दुष्प्रभाव के कारण उन दोनों के ही चेहरे का नूर गायब है और उनकी हवाइयाँ भी उड़ी हुई हैं.