-माध्यमिक स्कूलों के बच्चों को डिप्रेशन से दूर रहने के दिए जांएगे टिप्स

-करियर काउंसलिंग कर जानेंगे रुचि, एक्सपर्ट देंगे करियर बनाने के एडवाइज

बरेली: सरकारी माध्यमिक स्कूलों में पढ़ने वाले कैंडिडेट्स को पढ़ाई के साथ करियर काउसंलिंग भी कराई जाएगी. इतना ही नहीं पढ़ाई के दौरान होने वाले डिप्रेशन को दूर करने के टिप्स भी दिए जाएंगे ताकि स्टूडेंट्स पढ़ाई के दौरान कोई गलत कदम न उठाएं. साथ ही मनोवैज्ञानिक स्टूडेंट्स को बताएंगे कि वे अपनी इंटरेस्ट के हिसाब से कैसे बेहतर करियर बना सकते हैं.

सब्जेक्ट एक्सपर्ट देंगे टिप्स

माध्यमिक शिक्षा विभाग लखनऊ की तरफ से इसके लिए सभी डीआईओएस को कार्य योजना की जानकारी दे दी गई है. हालांकि अभी औपचारिक निर्देश मिलना बाकी है. जानकारी के अनुसार बताया गया कि स्कूलों में स्टूडेंटस की करियर काउंसलिंग कराई जाएगी. इसके पीछे कारण था कि आए दिन पढ़ाई के दबाव के कारण स्टूडेंट्स कई बार घातक कदम उठाने और जान देने या प्रयास करने तक के मामले सामने आते है. फेल होने के डर से वह कोई गलत कदम न उठाएं इसलिए विशेषज्ञ उन्हें बताएंगे कि वह किस तरह अपनी तैयारी करें. अपनी पसंद के विषय चुनकर वह आगे क्या करियर बना सकते हैं उन्हें इसके बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी.

योग के लिए भी करेंगे प्रेरित

करियर काउसंलिंग के दौरान पेरेंट्स को भी जरूरत पड़ने पर समझाया जाएगा कि अगर उनका बेटा या बेटी गणित व विज्ञान में कमजोर है तो उसे जबरन यह विषय न पढ़ाएं. करियर के तमाम विकल्प हैं. यही नहीं तनाव को दूर करने के लिए स्टूडेंट्स को योग व ध्यान का सहारा लें इसके लिए भी प्रेरित किया जाएगा. उनके व्यक्तित्व के संपूर्ण विकास के लिए कम्युनिकेशन स्किल को भी तराशने के गुर सिखाए जाएंगे.

एग्जाम से पहले होगी काउंसलिंग

यूपी बोर्ड हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के एग्जाम में बैठने वाले कैंडिडेट्स को एक करियर काउसंलिंग एग्जाम से पहले कराई जाएगी. खासकर हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के स्टूडेंट्स पर विशेष फोकस किया जाएगा.

==========

-कैंडिडेट्स की करियर काउंसलिंग कराई जाएगी इसकी अभी तो जानकारी मिली है. निर्देश शासन से मिलने के बाद काउंसलिंग कराने की कवायद भी शुरू की जाएगी.

मनभरन राम राजभर, प्रभारी डीआईओएस