-ड्राइवर की हत्या कर बोलेरो लूट कर पांच हो गए थे फरार

-बोलेरो रोकने पर इंटेलीजेंस विंग/स्वाट टीम पर लुटेरों की फायरिंग

PRAYAGRAJ: ड्राइवर की हत्या कर बोलेरो लूटने वाले पांच शातिरों को इंटेलीजेंस विंग/स्वाट ने रविवार को धर दबोचा. घटना को अंजाम देने के बाद लुटेरे बोलेरो का नंबर बदलकर प्रतापगढ़ जिले में चला रहे थे. इन दिनों वह बोलेरो बेचने के फिराक में थे. पांचों के बीच गहरी दोस्ती है. लुटेरों के कब्जे से पुलिस को लूटी गई बोलेरो, छह मोबाइल, तीन तमंचे 315 बोर व चार जिंदा कारतूस एवं एक खोखा मिला है.

बोलेरो मालिक ने की थी पहचान

पुलिस लाइंस सभागार में एसएसपी नितिन तिवारी ने घटना का खुलासा किया. बताया कि सोरांव थाना क्षेत्र में दो नवंबर को एक अज्ञात व्यक्ति की डेड बॉडी मिली थी. पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था. पोस्टमार्टम हाउस में मो. इरफान पुत्र मो. निजामुद्दीन निवासी राजापुर थाना चोलापुर वाराणसी ने उसकी पहचान की. बताया कि मृतक उसका ड्राइवर दिनेश पुत्र रामआश्रय राजापुर थाना चोलापुर है. उसकी बोलेरो भी गायब है. सोरांव पुलिस ड्राइवर की हत्या कर बोलेरो लूट की रिपोर्ट दर्ज कर जांच में जुट गई. पुलिस अधीक्षक क्राइम मनोज अवस्थी व सहायक पुलिस अधीक्षक सुकीर्ति माधव के नेतृत्व में टीम गठित की गई. रविवार को इंटेलीजेंस विंग/स्वाट प्रभारी धर्मेन्द्र सिंह यादव टीम के साथ सोरांव एरिया में जांच के लिए पहुंचे . इस बीच उन्हें पता चला कि लूटी गई बोलेरो को शातिर बेचने की ताक में है. वह बोलेरो को यहां सौदा करने के लिए लाने वाले हैं. इस बीच लूटी गई बोलेरो टीम को आती हुई दिखाई दी. रोकने पर बदमाश टीम फायरिंग करने लगे. बचते हुए बोलेरो सहित उसमें सवार पांचों बदमाशों टीम ने दबोच लिया. पकड़े गए पांचों शातिरों ने अपनी शिनाख्त प्रियांशु सिंह उर्फ राजा पुत्र अजब सिंह निवासी शोती का पूरा पचमहुआ बाघराय, अयोध्या दुबे पुत्र राजाराम दुबे निवासी मिखू थाना मऊआइमा, सुजीत दुबे उर्फ भट्टू उर्फ अनिल पुत्र मनीराम दुबे निवासी पूरे भिगो मऊआइमा, सुशील तिवारी उर्फ अलोपी पुत्र गुरुप्रसाद तिवारी निवासी भारतपुर पोस्ट कामापट्टी संग्रामगढ़ व प्रवीन तिवारी उर्फ प्रवीन्द्र कुमार पुत्र नन्द किशोर तिवारी सोरांव के रूप में दी. पांचों ने अपना गुनाह कबूल किया. इनके कब्जे से बोलेरो सहित तमंचे भी बरामद किए गए हैं.

बॉक्स

अयोध्या के लिए किए थे बुकिंग

पांचों शातिर चार पहिया वाहनों के कुशल ड्राइवर हैं. लुटेरों ने बताया कि सुजीत की पत्नी बीमार थी. उसे पैसों की जरूरत थी, जिसकी चर्चा उसने हम सबके सामने की. पैसों की जरूरत पांचों को थी. सुजीत ने अयोध्या जाने के लिए बोलेरो बुक किया था. पांचों बोलेरो से अयोध्या के लिए निकले. सोरांव एरिया में ड्राइवर की हत्या कर बोलेरो लूटकर प्रतापगढ़ चले गए थे. वहां नंबर बदलकर चला कर रहे थे. यहां बोलेरो को बेचने के लिए ला रहे थे कि पकड़ लिए गए.