लखनऊ (ब्यूरो) दिनदहाड़े कचहरी परिसर में बमबाजी और फायरिंग की घटना से हड़कंप मच गया। जानकारी मिलने पर ज्वाइंट कमिश्नर नवीन अरोड़ा भारी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। पीड़ित एडवोकेट संजीव लोधी ने बार एसोसिएशन के महामंत्री जितेंद्र सिंह यादव जीतू पर हमला करवाने का आरोप लगाया। उन्होंने जीतू यादव समेत सात वकीलों को नामजद कराते हुए पुलिस को तहरीर दी। उधर, हमले के बाद कलेक्ट्रेट परिसर में आयोजित आम सभा में वकीलों के दो गुटों में हुई भिड़ंत में महामंत्री जीतू यादव व दो अन्य घायल हो गए।

चैंबर के सामने खड़े थे

एडवोकेट संजीव लोधी बुधवार पूर्वान्ह 11.30 बजे कचहरी स्थित अपने चैंबर के सामने साथी एडवोकेट्स अमित पटवा, इंदर लोधी, प्रमोद लोधी, ज्ञान प्रकाश और श्याम सिंह चौहान के साथ खड़े हुए बातचीत कर रहे थे। संजीव लोधी के मुताबिक, इसी दौरान सुधीर यादव, आजम, एजाज और दिलीप सिंह वहां आ पहुंचे और उन पर निशाना साधते हुए देशी बम से हमला कर दिया। हालांकि, हमलावरों का निशाना चूक गया और बम फर्श पर गिरकर फट गया। जिसके छर्रे उनके अलावा प्रमोद लोधी और ज्ञान प्रकाश के लगे। संजीव ने बताया कि हमलावरों ने उन्हें निशाना बनाते हुए दो बम फेंके लेकिन, वे मिस हो गए।

तथ्य एक नजर में

- कचहरी परिसर हड़कंप, दो जिंदा बम बरामद

- बार एसोसिएशन के महामंत्री जितेंद्र यादव पर हमला करवाने का आरोप

- हमले के बाद वकीलों के दो गुट भिड़े, महामंत्री व दो अन्य वकील घायल

- कचहरी परिसर में पूर्वान्ह 11.30 बजे लखनऊ बार एसोसिएशन के ज्वाइंट सेक्रेटरी पर बम से हमला, दो राउंड फायरिंग भी।

- हमलावरों का निशाना चूका और बम फर्श पर गिरकर फट गया। जिसके छर्रे उनके अलावा प्रमोद लोधी और ज्ञान प्रकाश के लगे।

- ज्वाइंट कमिश्नर नवीन अरोड़ा सूचना मिलने के बाद भारी पुलिस फोर्स संग मौके पर पहुंचे।

- पुलिस ने मौके से दो जिंदा बम बरामद किये, जिन्हें मौके पर पहुंचे बम डिस्पोजल स्क्वायड ने डिफ्यूज किया।

- पीड़ित संजीव लोधी ने सुधीर यादव, आजम, एजाज और दिलीप सिंह पर हमला करने व जितेंद्र सिंह यादव जीतू, अन्नू यादव, अजय यादव पर हमले की साजिश का आरोप लगाया।

फायरिंग करते फरार हो गए

प्रत्यक्षदर्शी श्याम सिंह चौहान ने बताया कि बमबाजी से कचहरी परिसर में अफरातफरी मच गई। इसी बीच हमलावर तमंचे से फायरिंग करते हुए मौके से फरार हो गए। दिनदहाड़े कचहरी परिसर में बमबाजी की सूचना से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। जानकारी मिलने पर ज्वाइंट कमिश्नर नवीन अरोड़ा, डीसीपी वेस्ट अरुण श्रीवास्तव, एडीसीपी विकास चंद्र त्रिपाठी कई थानों की फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस ने मौके से दो जिंदा बम बरामद किये, जिन्हें मौके पर पहुंचे बम डिस्पोजल स्क्वायड ने डिफ्यूज किया। पीड़ित संजीव लोधी ने पुलिस को दी तहरीर में सुधीर यादव, आजम, एजाज और दिलीप सिंह पर हमला करने व जितेंद्र सिंह यादव जीतू, अन्नू यादव, अजय यादव पर हमले की साजिश रचने का आरोप लगाया। पुलिस अधिकारियों के समक्ष नाराज वकीलों ने कचहरी परिसर में सुरक्षा को लेकर बरती जा रही कोताही को लेकर नाराजगी जताई और जमकर नारेबाजी की।

जनरल हाउस मीटिंग में जमकर मारपीट

सिविल कोर्ट में हुए हमले के बाद लखनऊ बार एसोसिएशन में वकीलों की आम सभा बुलायी गई। जहां नाराज वकील अपनी बात कह रहे थे। इसी दौरान वहां पहुंचे एडवोकेट जीतू यादव, मो। आजम व उनके साथी वकीलों की वहां मौजूद कुछ वकीलों से भिड़ंत हो गई। जिसमें जीतू यादव, मो। आजम को गंभीर चोटें आईं। इस मारपीट की वजह से आम सभा की बैठक भी कैंसिल कर दी गई।

रोड जाम कर किया प्रदर्शन

हमले से नाराज संजीव लोधी गुट के वकीलों ने कलेक्ट्रेट गेट नंबर तीन के बाहर रोड जामकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। वकील हमलावरों की तुरंत गिरफ्तारी की मांग करते हुए नारेबाजी कर रहे थे। जानकारी मिलने पर पहुंचे अधिकारियों ने वकीलों को कार्रवाई का आश्वासन देकर प्रदर्शन खत्म कराया।

दोनों पक्षों की ओर से एफआईआर

एडवोकेट संजीव लोधी की तहरीर पर सुधीर यादव, आजम, एजाज और दिलीप सिंह पर हमला करने व जितेंद्र सिंह यादव जीतू, अन्नू यादव, अजय यादव व 8-10 अन्य पर हमले की साजिश रचने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी। पुलिस ने उनकी तहरीर पर बलवा, जानलेवा हमला व विस्फोटक अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज की। वहीं, जीतू यादव की तहरीर पर अज्ञात वकीलों के खिलाफ जानलेवा हमले की एफआईआर दर्ज की गई है।

'दोनों पक्षों की एफआईआर दर्ज कर ली गई है। घटनास्थल की सीसीटीवी फुटेज की जांच कर वेरीफाई किया जा रहा है कि वहां कौन-कौन मौजूद था। सर्विलांस के जरिए भी आरोपियों की मौजूदगी की पुष्टि की जा रही है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।'

- नवीन अरोड़ा, ज्वाइंट कमिश्नर

lucknow@inext.co.in

Posted By: Mukul Kumar

National News inextlive from India News Desk