अब बुझ गया परिवार का इकलौता चिराग

रहस्यमय परिस्थिति में पहले भी हो चुकी है दो बहनों की मौत

>

TEWA(JNN): मंझनपुर कोतवाली क्षेत्र के उमरा गांव के एक परिवार में मौत दर मौत का सिलसिला जारी है. अब परिवार का इकलौता चिराग भी बुझ गया है. ताजी घटना से परिवार में एक बार फिर कोहराम मच गया है. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

तीन बहनों में अकेला भाई

उमरा निवासी सोनू (20) पुत्र दिनेश कुमार सोमवार की शाम घर में था. अचानक उसकी हालत गंभीर खराब हो गई, उसके मुंह से झाग निकलने लगा. इसकी जानकारी परिजनों को हुई तो फौरन उसे लेकर जिला चिकित्सालय आए. वहां से प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सकों ने उसे इलाहाबाद के एसआरएन अस्पताल रेफर कर दिया. परिजन उसे लेकर इलाहाबाद ले जा रहे थे. अभी वे भरवारी के पास पहुंचे थे कि सोनू की मौत हो गई. परिजन शव को लेकर घर लौट अाए. मंगलवार की सुबह इसकी सूचना कोतवाली पुलिस को दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

एक बहन ही बची

सोनू के पहले उसकी छोटी बहन शिवानी (6) व अनीता (3) की 10 साल पहले मौत हो चुकी है. तीन बहन व एक भाई के इस परिवार में सोनू के बाद उसकी बहन सुषमा ही बची है. बताते हैं कि सोनू की मां दस साल पहले गांव के एक युवक के साथ मुंबई चली गई. इसके बाद वह लौट कर नहीं आई. उसके पिता दिनेश रोजगार के लिए सऊदी अरब में रहते हैं.