कानपुर। 27 सितंबर 1981 को डुनेडिन में जन्में ब्रेंडन मैक्कुलम न्यूजीलैंड क्रिकेट के बेहतर बल्लेबाज और कप्तान माने जाते हैं। मैक्कुलम ने अपने देश के लिए कई यादगार पारियां खेलीं। लोअर ऑर्डर बैट्समैन के रूप में करियर की शुरुआत करने वाले मैक्कुलम ने जब बतौर ओपनर पिच पर कदम रखा तो उनका खेलना का तरीका बदल गया। उन्होंने एक विस्फोटक बल्लेबाज के रूप में अपनी पहचान बनाई।

2002 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ किया डेब्यू

दाएं हाथ के बल्लेबाज ब्रेंडन मैक्कुलम ने साल 2002 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने इंटरनेशनल करियर का आगाज किया था। यह वनडे मैच था जो सिडनी में खेला गया। डेब्यू मैच में मैक्कुलम कुछ खास नहीं कर पाए और 5 रन के स्कोर पर रन आउट हो गए। क्रिकइन्फो को दिए एक इंटरव्यू में मैक्कुलम ने कहा था कि उन्हें सबसे ज्यादा खराब तब लगता है जब वह रन आउट होते हैं। ब्रेंडन का शुरुआती करियर उतार-चढ़ाव वाला रहा। साल 2004 में मैक्कुलम ने टेस्ट क्रिकेट में कदम रखा था और करीब 12 साल टेस्ट क्रिकेट खेले।

brendon mccullum birthday: एक गेंद में दो छक्के लगाने वाले मैक्कुलम हुए 38 साल के

आईपीएल में 158 रन की पारी रही टर्निंग प्वाॅइंट

ब्रेंडन मैक्कुलम के करियर का टर्निंग प्वाॅइंट साल 2008 रहा जब आईपीएल के पहले सीजन के पहले मैच में केकेआर की तरफ से खेलते हुए इस कीवी बल्लेबाज ने 73 गेंदों में नाबाद 158 रन की तूफानी पारी खेली थी। इस इनिंग में मैक्कुलम के बल्ले से कुल 13 छक्के निकले थे। इस पारी के बाद मैक्कुलम ने क्रिकेट जगत में विस्फोटक बल्लेबाज के रूप में अपनी पहचान बना ली थी।

एक गेंद में मारे हैं दो छक्के

ब्रेंडन मैक्कुलम ने आईपीएल में एक गेंद पर दो छक्के भी मारे हैं। यह कारनामा 2018 में हुआ था जब आरसीबी की तरफ से खेलते हुए मैक्कुलम ने मुंबई के खिलाफ एक गेंद पर दो सिक्स लगाए। दरअसल हुआ यूं कि आरसीबी की टीम पहले बल्लेबाजी कर रही थी। पहली पारी का 10वां ओवर फेंकने आए मुंबई के तेज गेंदबाज हार्दिक पांड्या। इस ओवर की दूसरी गेंद पांड्या ने फुलटॉस फेंकी जिस पर मैक्कुलम ने थर्ड मैन के ऊपर से छक्का मार दिया। चूंकि यह फुलटॉस गेंद बल्लेबाज की कमर से ऊपर थी ऐसे में अंपायर ने इसे 'नो-बॉल' करार दे दिया। अगली गेंद फ्री हिट थी जिस पर मैक्कुलम ने फिर से छक्का जड़ दिया। यानी कि एक वैलिड गेंद पर दो छक्के पड़ गए।

brendon mccullum birthday: एक गेंद में दो छक्के लगाने वाले मैक्कुलम हुए 38 साल के

सबसे तेज टेस्ट शतक

टी-20 क्रिकेट ही नहीं टेस्ट में भी मैक्कुलम के नाम कई रिकाॅर्ड हैं। मैक्कुलम ने टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज शतक लगाया है। इस कीवी बल्लेबाज ने यह कारनामा साल 2015 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ किया था। तब मैक्कुलम ने 54 गेंदों में ही सेंचुरी ठोंक दी थी। इस रिकाॅर्ड को आज तक कोई नहीं तोड़ पाया।

12 घंटे खेलकर जड़ा था तिहरा शतक

ब्रेंडन मैक्कुलम इकलौते कीवी प्लेयर हैं जिनके नाम टेस्ट में तिहरा शतक है। मैक्कुलम ने यह कारनामा 2014 में भारत के खिलाफ खेलते हुए किया था। वेलिंग्टन में खेले गए इस मैच में मैक्कुलम ने 12 घंटे से ज्यादा बैटिंग करते हुए 302 रन की पारी खेली थी।

ऐसा है इंटरनेशनल रिकाॅर्ड

क्रिकेट को अलविदा कह चुके ब्रेंडन मैक्कुलम ने न्यूजीलैंड के लिए करीब 14 साल तक क्रिकेट खेला। इस दौरान उन्होंने 260 वनडे खेले जिसमें 30.41 की औसत से 6083 रन बनाए। इसमें पांस शतक और 32 अर्धशतक शामिल हैं। वहीं टेस्ट क्रिकेट की बात करें तो इस कीवी बल्लेबाज के बल्ले से 101 मैचों में 38.64 की एवरेज से 6453 रन निकले इसमें 12 शतक और 31 अर्धशतक शामिल हैं। इसके अलावा मैक्कुलम ने 71 टी-20 इंटरनेशनल मैच खेलकर 2140 रन बनाए जिसमें दो शतक और 13 हाॅफसेंचुरी हैं।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk