हेल्थ डिपार्टमेंट से नहीं मिल पा रही दून हॉस्पिटल को एलाइजा किट

-कॉलेज प्रशासन ने जारी किया टेंडर, सीएमओ कार्यालय से नहीं मिल रही एलाइजा किट

देहरादून,

दून हॉस्पिटल में डेंगू की जांच के लिए जरूरी एलाइजा किट अब राजकीय दून मेडिकल कॉलेज के बजट से खरीदी जा रही हैं. इसके लिए कॉलेज प्रशासन ने टेंडर भी जारी कर दिया है. हॉस्पिटल को पहले सीएमओ कार्यालय एलाइजा किट प्रोवाइड कर रहा था. लेकिन, अब हॉस्पिटल को सीएमओ कार्यालय से एलाइजा किट नहीं मिल रही है. इस स्थिति में अब कॉलेज को अपने स्तर से जुगाड़ करना पड़ रहा है. दून हॉस्पिटल में एक दिन में 350 से ज्यादा टेस्ट हो रहे हैं. ऐसे में कॉलेज मैनेजमेंट को एलाइजा किट का इंतजाम करने में पसीने छूट रहे हैं.

दून में डेंगू बना एपिडेमिक

दून में डेंगू एपिडेमिक का रूप ले चुका है, हर तरफ डेंगू से हाहाकार मचा हुआ है. राजकीय दून मेडिकल कॉलेज अब अपने बजट को एपिडेमिक में भी खर्च करने जा रही है. दून हॉस्पिटल में रोजाना डेंगू की जांच के लिए मरीजों की लम्बी कतारें लग रही हैं. ऐसे में एलाइजा किट की जरूरत बढ़ती जा रही है. दून हॉस्पिटल मैनेजमेंट ने एलाइजा किट खरीदने के लिए टेंडर जारी कर दिया है. दून हॉस्पिटल के एमएस डॉ. केके टम्टा ने बताया कि हॉस्पिटल की पैथोलॉजी में एक दिन में चार वाइल लग रही हैं, एक वाइल में मैक्सिमम 96 टेस्ट होते हैं. एक दिन में 350 से ज्यादा टेस्ट हो रहे हैं. उन्होंने बताया कि 13 हजार 800 रुपए में एक वाइल आ रहा है. एक हफ्ते के लिए ढाई लाख का कोटेशन कर दिया गया है. इसके बाद टेंडर कर दिया जाएगा.

22 नए केस हुए कंफर्म

वेडनसडे को भी दून में 22 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई है. इस तरह से दून में डेंगू के मरीजों का आंकड़ा 813 हो गया है. जबकि एक केस दून से बाहर का भी दर्ज हुआ है. जिससे दून के बाहर का आंकड़ा 31 होकर कुल मरीजों की संख्या 844 पर पहुंच गई है. स्वास्थ्य विभाग लगातार दून के विभिन्न क्षेत्रों में मच्छर के लार्वा का सर्वे कर लोगों को जागरूक करने में जुटा हुआ है. दून में स्वास्थ्य विभाग की 21 टीमें कई इलाकों में लार्वा को लेकर सर्च ऑपरेशन चला रही हैं. वेडनसडे को दून के 3623 घरों में मच्छर का सर्वे किया गया. जिसमें से 104 घरों में डेंगू के मच्छर का लार्वा मिला. स्वास्थ्य विभाग की टीम ने घरों से मिले लार्वा को वहीं पर नष्ट किया. इसके बाद लोगों को जागरूक भी किया.

डीजी हेल्थ का घेराव

डेंगू के बढ़ते प्रकोप और स्वास्थ्य विभाग के नाकामी इंतजाम को लेकर मुख्य विपक्षी कांग्रेस ने वेडनसडे को डीजी हेल्थ का घेराव किया. कांग्रेस की ओर से प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने डीजी हेल्थ को बताया कि डेंगू से लोगों में दहशत का माहौल है. कांग्रेसियों ने दावा किया कि पिछले एक माह में दून में डेंगू से चार दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. उन्होंने बताया कि दून में बुखार आते ही लोगों में दहशत हो जा रही है. दून हॉस्पिटल की ओपीडी में ढाई से तीन हजार मरीज पहुंच रहे हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि डेंगू की आड़ में प्राइवेट लैब लोगों को लूटने में लगी है. इससे गरीब आदमी को इलाज नहीं मिल पा रहा है. कांग्रेसियों ने डीजी से डेंगू के इलाज को मुफ्त में करने और सुविधाएं बढ़ाने की मांग की है.

-----

हॉस्पिटल की लैब में एलाइजा किट की डिमांड बहुत ज्यादा बढ़ गई है. एक दिन में 350 से ज्यादा टेस्ट हो रहे हैं. सीएमओ ऑफिस से हमें एलाइजा किट नहीं मिल रही हैं. ऐसे में एलाइजा किट खरीदने के लिए टेंडर जारी कर दिया गया है.

डॉ. केके टम्टा, एमएस, दून हॉस्पिटल

-----------

विभाग के पास जितनी एलाइजा किट उपलब्ध हैं, उसे सभी हॉस्पिटल को उपलब्ध कराया जा रहा है. दून हॉस्पिटल को अपने स्तर से भी किट खरीदने को कहा गया है.

डॉ. एसके गुप्ता, सीएमओ, देहरादून