-तीन राउंड फायर, एक गोली कार में फंसी

- तीन माह पूर्व से चल रहे रंगदारी मांगने का मामला

Meerut : डिफेंस एन्क्लेव ए ब्लाक गणेश अग्रवाल की कोठी के सामने दो बाइक सवार चार बदमाशों ने बिल्डर अशोक मारवाड़ी की स्विफ्ट पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी. एक गोली कार में अंदर धंस गई. बाकी कार के ऊपर से निकल गई. अशोक ने कार के अंदर नीचे दुबक कर जान बचाई है. वारदात को अंजाम देकर हमलावर फरार हो गए. हमले के पीछे तीन रंगदारी का मामला सामने आया है. अशोक ने पुलिस को दी तहरीर में अपने दो पार्टनरों को विक्रांत और प्रवीण को नामजद किया है. पहले भी अशोक के घर डकैती पड़ गई थी. तीन माह पहले भी बिल्डर से तीन लाख की रंगदारी मांगी गई थी.

जाना था दिल्ली

डिफेंस एन्क्लेव बी 197 निवासी बिल्डर अशोक मारवाड़ी रहते है. नटेश पुरम 577 में उनके बड़े भाई विजय गोयल और पिता महावीर सिंह रहते हैं. दिल्ली के मेदांता हास्पिटल में महावीर सिंह की हार्ट की सर्जरी हुई है. शनिवार की सुबह अशोक मारवाड़ी को मां अनोखी देवी को लेकर दिल्ली जाना था. अनोखी देवी नटेशपुरम में रहती है. अशोक सुबह ही दिल्ली जाने के लिए डिफेंस एन्क्लेव घर से निकले, पहले उन्हें मां अनोखी देवी को लेने नटेशपुरम जा रहे थे. डिफेंस एन्क्लेव के ए ब्लाक गणेश अग्रवाल की कोठी के सामने बाइक सवार दो युवकों ने कार को हाथ देकर रूकवा लिया.

दोनो ओर से फायरिंग

अशोक ने कार रोकी दूसरी ओर से भी दो बाइक सवार आ गए. दोनो ओर साइड ¨वडो से बदमाशों ने फाय¨रग शुरु कर दी. एक गोली कार की बॉडी में फंस गई, दो गोली दोनो ¨वडो शीशों को पार कर निकल गई. अशोक फायरिंग के समय कार में नीचे बैठ कर कार को दौड़ा दिया. स्कूटी से जा रही एक बालिका कार की चपेट में आते-आते बची. अशोक ने कार सीधे नटेश पुरम में कार रोकी. कंट्रोल रूम को सूचना दी गई, जिस पर पुलिस मौके पर पहुंची.

सीसीटीवी फुटेज खंगाली

पुलिस ने घटना स्थल के आसपास की सीसीटीवी फुटेज निकाल ली है. अशोक ने बताया कि हमलावरों ने मुंह पर शाल लपेट रखी थी और कपड़ा भी बांध रखा था. जिस बाइक सवार ने रुकने का इशारा किया था, उसका शाल नीचे गिर जाने के कारण उन्होंने उसे पहचाना है, जो दौराला निवासी विक्रांत उर्फ आदित्य और श्रद्दापुरी फेज टू निवासी प्रवीन ¨सघल और शुभम ¨सघल है, अशोक के तीनों को नामजद करते हुए मुकदमा दर्ज करा दिया. इंस्पेक्टर प्रशांत कपिल ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. सीसीटीवी फुटेज से पूरे मामले की जांच की जा रही है.

दहशत में परिवार

अशोक मारवाड़ी का परिवार पूरी तरह से दशहत में है. 13 जनवरी 2015 को भी अशोक के घर पर डकैती पड़ गई थी. तीन माह पहले अशोक से रंगदारी मांगी गई. उसके बाद अब हमला कर दिया गया. है. ऐसे में पूरा परिवार दशहत में आ गया है. तीन माह पूर्व दौराला क्षेत्र के विक्रांत ने कार पीछा करते हुए दांतल रोड पर रोक लिया था, पिस्टल लगा कर उसने तीस लाख रुपए जल्द देने की बात कही थी. डेढ़ माह पूर्व उनकी मां अनोखी देवी से चेन लूट ली गई थी. फाय¨रग की सूचना पर उनके घर पर मिलने वालों का तांता लगा गया.