लगी तीन गोली
कालिंदी कंसंट्रक्शन प्रा लि के एमडी शैलेश कुमार सुबह फ्रेजर रोड स्थित महाराजा कामेश्वर सिंह कांपलेक्स के 607बी से निकले थे. तीन क्रिमिनल्स आम्र्स लहराते आए और ताबड़तोड़ फायरिंग करने लगे. गोली शैलेश के सिर में लगी, दूसरी एक कान से दूसरे कान होते बाहर निकल गई. तीसरी गोली कमर में लगी. पुलिस डेडबॉडी को तुरंत पोस्टमार्टम के लिए एनएमसी ले आई. उनके साले की मानें, तो उनके पास की डायरी लापता है.  

एसएसपी ने की पूछताछ
एसएसपी मनु महाराज ने एनएमसी पहुंचकर उनके रिलेटिव्स से पूछताछ की. इसके बाद वे घटनास्थल का इंस्पेक्शन करने निकल गए. सिटी एसपी जयंतकांत व सदर डीएसपी मो. मुत्तफिक अहमद पहुंचे. अपराधियों की एज 25 से 30 वर्ष बतायी गयी है.

बिल्डर की वाइफ ने तीन लोगों पर जताया शक
बिल्डर शैलेश सिंह के मर्डर के रीजन पर पुलिस इंवेस्टीगेशन शुरू है. इसी बीच शैलेष की वाइफ अंजू कुमार ने मर्डर के तीन रीजन्स बताए हैं. उन्होंने  एसएसपी को बताया कि बड़ी पहाड़ी पर उनका एक वेयरहाउस लगभग 36 कट्ठा में बन रहा है. इस पर उनके पति के पूर्व पार्टनर राकेश कुमार की वाइफ संदीक्षा भी दावा कर रही है. उन्होंने बताया कि राकेश की मौत पहले ही होगी चुकी है लेकिन संदीक्षा उस प्लॉट में से कम से कम पांच क_े की डिमांड कर रही है.

Ransome connection!
अंजू ने लैंड डिस्प्यूट के साथ पति के एक्स लीगल एडवाइजर धर्मनाथ पांडेय पर भी शक जताया है. अंजू के भाई सोनू का कहना है कि धर्मनाथ पांडेय ने डॉक्यूमेंट्स व कैश के मामले गड़बड़ी की थी. इसके बाद से उन्हें कंपनी से हटाने के साथ उन पर मुकदमा भी किया गया था. वहीं तीसरा एंगल रैनसम का भी है. सोनू ने बताया कि दुर्गेश नाम का क्रिमिनल लगातार कॉल कर रैन्सम की डिमांड करता था. वह कहता कि रैन्सम की राशि एक बार नहीं दे सकते तो इंस्टॉलमेंट में ही दो.

गांधी सेतु पर जाम
बिल्डर शैलेश कुमार की हत्या के बाद से महात्मा गांधी सेतु पर हाजीपुर से आने वाले साइड में जाम लग गया. इसका असर पहाड़ी रोड, अगमकुआं आरओबी, संदलपुर रोड व कुम्हरार रेल गुमटी पर देखा गया. पुलिस ने सेतु पर हाजीपुर से आने वाले फोर व्हीलर को बिस्कोमान गोलंबर की ओर मोड़ दिया लेकिन जाम शाम तक कंटीन्यू रहा.

एफएसएल की टीम ने उठाया सैंपल
शैलेश की हत्या के करीब चार घंटे के बाद एफएसएल की टीम भी पहुंची. घटनास्थल का फोटोग्राफ्स के साथ ब्लड व सैंड सैंपल लिए. टीम ने आसपास में इंवेस्टिगेशन किया. जहां गोली मारी गयी थी, वहां पर शैलेश का एक जोड़ा काला चप्पल पड़ा मिला. वहीं बाहर निकलने वाले रास्ते में दो तरह का हवाई चप्पल भी पड़ा था.