- नैनीताल रोड पर त्रिवटीनाथ कॉलोनी में सूर्या बैंकेट हॉल के पास शॉप में मिला है सिद्धार्थ का शव

- काम के सिलसिले में दुकान में ही रुक गए थे, 48 घंटों में जिले में चौथी हत्या से हड़कंप

बरेली : बिल्डिंग मैटेरियल कारोबारी सिद्धार्थ रोहतगी की मंडे रात उनकी दुकान में ही सिर कूच कर हत्या कर दी गई. मूलरूप से कन्हैया टोला, बड़ा बाजार के रहने वाले सिद्धार्थ की शॉप नैनीताल रोड पर त्रिवटी नाथ कॉलोनी में सूर्या बैंकेट हॉल के पास है. हत्या किसने और क्यों की है इसका खुलासा अभी नहीं हो पाया है. पिछले 48 घंटों में जिले में हत्या की यह चौथी वारदात है. पुलिस अभी किसी भी मामले का खुलासा नहीं कर पाई है.

दुकान के ऊपर ही था घर

भाजपा नेता सतीश रोहतगी के भतीजे सिद्धार्थ रोहतगी (36) की शादी ढाई साल पहले राजेंद्रनगर में गुलमोहर पार्क कॉलोनी निवासी सीए अजीत सक्सेना की बेटी अनुपमा से हुई थी. शादी के बाद वह पत्नी के साथ ससुराल में रहते थे. ग्राउंड फ्लोर पर उनकी शॉप थी जबकि फ‌र्स्ट फ्लोर पर वे रहते थे. मंडे रात वह कामकाज के सिलसिले में अपनी शॉप पर ही रुक गए थे. पत्‍‌नी को कॉल कर घर आने से मना कर दिया था. उसके बाद उनका मोबाइल स्वीच ऑफ हो गया था.

फर्श पर बिखरा था खून

ट्यूजडे को घर नहीं आने पर ससुर अजीत सक्सेना उनको बुलाने शॉप पर पहुंच गए. मगर उनकी शॉप का दरवाजा नहीं खुला. फिर उन्होंने शॉप में काम करने वाले रंजीत को कॉल कर वहां बुला लिया. रंजीत के साथ दीवार फंदाकर वे कमरे में घुस गए. जहां उन्होंने अपने दामाद को मृत हालत में पाया. उन्होंने बताया कि फर्श खून से सनी थी. कातिलों ने दामाद की सिर कूचकर हत्या कर दी थी.

बंद पड़े थे सीसीटीवी कैमरे

हत्या की जानकारी होते ही पूरे इलाके में सनसनी फैल गई. सूचना मिलने पर एसएसपी शैलेश पाण्डेय, एसपी सिटी अभिनंदन सिंह, एसपी क्राइम रमेश भारतीय, सीओ फ‌र्स्ट अशोक कुमार सिंह ने डॉग स्क्वॉड और फॉरेंसिक टीम के साथ मौका मुआयना किया. प्रेमनगर थाना पुलिस ने शॉप के नौकर व अन्य लोगों से पूछताछ की. मगर पुलिस को कोई सुराग नहीं मिला. पुलिस ने आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे भी चेक किए, जो बंद थे. फिर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

वर्जन

पुलिस कारोबारी के मोबाइल डिटेल खंगालेगी. इसमें कातिलों के बारे में कोई पुख्ता सुबूत मिल सकता है. जल्द ही पुलिस जिले में हुई हत्या की वारदातों को खुलासा करेगी.

रमेश भारतीय, एसपी क्राइम

----------------------

इन मामलों का भी नहीं हुआ खुलासा

1. गला घोट कर मासूम को उतारा मौके घाट

सैटरडे को फरीदपुर के गौसगंज निवासी सातवीं के छात्र साहिल (12) की हत्या हुई थी. हत्या के बाद कातिलों ने साहिल की लाश को सेंट मैरी स्कूल के पास झाडि़यों में फेंक दिया था. स्कूल के सीसीटीवी कैमरे में संदिग्ध लोगों की तस्वीरें कैद हो गई हैं. अंधेरे की वजह से पुलिस हत्यारों को पहचान नहीं पा रही है. एक महिला का आरोप है कि हफ्ते भर पहले गांव के कुछ लड़कों ने साहिल से कुकर्म का प्रयास किया था. शक के आधार पर पुलिस ने चार लड़कों को हिरासत में पूछताछ कर रही है.

2. रिछा में छात्र की गोली मारकर हत्या

मंडे को देवरनियां के बाजार मोहल्ला रिछा के नजीब (14) की अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. फिर कातिलों ने उसकी लाश को शारदा नहर किनारे कृष्ण मुरारी के धान के खेत में फेंक दिया था. नजीब कस्बे के डीपीएस स्कूल में नौवीं क्लास का स्टूडेंट था. पुलिस ने नजीब के दो क्लासमेट को हिरासत में लिया है. नजीब के दोस्त ने बताया कि वह एक लड़की से मिलने की बात कह रहा था. ऐसे में पुलिस का मानना है कि प्रेम संबंधों की वजह से दोस्तों ने नजीब की हत्या कर दी है.

3. अधेड़ की सिर काट कर हत्या

मंडे देर रात भुता निवासी बाबूराम (60) की सिर कटी लाश मल्लपुर कस्बे में मिली. बाबूराम के बेटे विमल ने बताया कि उसके पिता पांच दिनों से लापता थे. उसने भुता थाने में पिता की गुमशुदगी दर्ज कराई थी. बेटे का आरोप है कि उसके पिता की बीसलपुर हाइवे के पास जमीन है. इस जमीन पर मेडिकल कारोबारी और साथी कब्जा करने की कोशिश कर रहे थे. जब उसके पिता ने विरोध किया तो उन लोगों ने पिता को जान से मारने की धमकी दी थी. इस मामले में पुलिस ने मेडिकल कारोबारी और उसके साथी से पूछताछ शुरू कर दी है. फिलहाल हत्यारे पुलिस की गिरफ्तार से दूर है.