-रोडवेज एमडी राजशेखर ने विभागीय अधिकारियों संग की बैठक

PRAYAGRAJ: रोडवेज विभाग के अधिकारी हाल ही में हुए यमुना एक्सप्रेस वे में हुए हादसे के बाद भी सबक लेने को तैयार नहीं हैं. इस बात का खुलासा बुधवार को रोडवेज एमडी राजशेखर की सिविल लाइंस बस स्टैंड और जीरो रोड वर्कशॉप की विजिट के दौरान हुआ. इसमें पचास फीसदी बसों में वीटीएस यानी व्हीकल ट्रैकिंग सिस्टम ठीक से काम करते नहीं पाए गए. इसको गंभीरता से लेते हुए एमडी ने आपत्ति जाहिर की. इस दौरान उन्होंने अधिकारियों के साथ बैठक भी की.

वर्दी नहीं पहनते ड्राइवर

एमडी ने बातचीत में पाया कि पचास फीसदी ड्राइवर अपनी वर्दी नहीं पहनते हैं. बसों से फ‌र्स्ट एड किट भी नदारद मिली. दौरे में टायलेट की संख्या बढ़ाने की बात भी सामने आई. मौके पर एलईडी डिस्प्ले बोर्ड भी बंद पाया गया. लालगंज और सिविल लाइंस बस स्टैंड की रैेंकिंग सुधारने की बात भी की गई. एमडी ने कहाकि वर्दी नही पहनने से ड्राइवर के वेतन से सौ रुपए की कटौती की जाए. यह भी कहा कि बस में फ‌र्स्ट एड किट नही रखे जाने पर वेतन से सौ रुपए की कटौती और डिपार्टमेंटल इंक्वायरी भी सेटअप की जाएगी. उन्होंने यह भी कहा कि यदि कोई लंबी दूरी की बसों को बिना दो ड्राइवरों को बिना दो चालकों या गति नियंत्रण उपकरण भेजने पर प्रभारी अधिकारी को निलंबित कर दिया जाएगा. एमडी ने बेहतर कार्यो के लिए अधिकारियों को बधाई भी दी.