--NER अपने CUG नंबर के थ्रू साफ-सफाई के लिए कर रहा है अवेयर

- रेलवे स्टाफ के तीन हजार मेंबर्स के नंबर्स के जरिये सुनाया जा रहा है मैसेज

varanasi@inext.co.in

VARANASI:

रेलवे स्टेशंस, प्लेटफॉ‌र्म्स व ट्रेंस की गंदगी भला किससे छिपी है. ट्रेंस में जर्नी करने वाले हर शख्स का इससे दो-चार होना पड़ता है. लेकिन खास बात यह है कि गंदगी फैलाने वाला कहीं बाहर से नहीं आता है. इसके लिए यही पैसेंजर्स जिम्मेदार हैं. जो अपने गैर-जिम्मेदाराना रवैये के चलते कहीं भी गंदगी कर देते हैं. लेकिन पब्लिक को अवेयर करने के लिए एनईआर ने अवेयरनेस कैंपेन स्टाट किया है. डिपार्टमेंट के सीयूजी मोबाइल फोन की कॉलर ट्यून के जरिये लोगों को यह संदेश दिया जा रहा है कि पब्लिक प्लेसेज जैसे स्टेशंस, प्लेटफॉ‌र्म्स व ट्रेंस आदि में गंदगी न करें. इनको साफ रखने में रेलवे की हेल्प करें.

तीन हजार पर हुआ डाउनलोड

बीते ख्ब् दिसंबर को रेल मिनिस्टर सुरेश प्रभु ने बनारस दौरे के समय मंडुआडीह स्टेशन पर खुद झाड़ू लगाकर सफाई रखने का पॉजिटिव मैसेज लोगों को दिया था. इसके बाद डिपार्टमेंट उनके द्वारा दिये गए इस सफाई के मैसेज को पैसेंजर्स तक पहुंचाने में जी जान से जुट गया. इसी कड़ी में वाराणसी डिवीजन के लगभग तीन हजार ऑफिसर्स, इंजीनियर्स, लोको पायलट, गा‌र्ड्स, सिक्योरिटी व सेफ्टी से जुड़े कर्मचारियों को दिए गए सीयूजी नंबर्स को अस्त्र बनाया गया. इन मोबाइल नंबर्स पर सफाई से जुड़े लगभग आठ तरह का कॉलर ट्यून्स को डाउनलोड कर दिया गया है. जिससे किसी के भी इन नंबर्स पर कॉल करते ही उसे सफाई के प्रति अवेयरनेस मेसेज सुनाई पड़ रहा है. इसके बाद बात हो रही है.

एक के बाद एक ट्यून

मोबाइल फोन पर सुनायी देने वाले कॉलर ट्यून में स्टेशंस, प्लेटाफॉ‌र्म्स व ट्रेंस को गंदा न करने के अलावा निर्धारित स्थान पर कूड़ा फेंकने, गंदगी से बीमारी फैलती है, स्वच्छ रहें और स्वच्छता फैलाएं जैसे मैसेजेज सुनायी दे रहे हैं. इतना ही नहीं, एनईआर की ओर से पब्लिक के मोबाइल फोन्स पर एसएमएस भी भेजा जा रहा है.

वर्जन---

एनईआर ने स्टेशंस कैंपस व ट्रेंस की साफ-सफाई के लिए पब्लिक को अवेयर करने के लिए यह कैंपेन स्टार्ट किया है. इससे पब्लिक तक आसानी से मैसेज पहुंच जाएगा.

अशोक कुमार, पीआरओ, वाराणसी डिवीजन