नहीं पहुंच पाए परीक्षार्थी
शहर के 18 परीक्षा सेंटरों पर आयोजित इस परीक्षा के लिए 10 हजार 244 परीक्षार्थी पंजीकृत हुए थे. इनमें से परीक्षा देने 7 हजार 666 परीक्षार्थी ही पहुंच सके. जबकि 25 सौ 78 परीक्षार्थी अपसेंट रहे. इस परीक्षा के लिए नौ सेक्टर मजिस्ट्रेट व नौ पर्यवेक्षकों के अलावा अन्य प्रशासनिक अधिकारियों को ड्यूटी पर लगाया गया था. मेरठ रीजन के पशु पालन विभाग के अपर निदेशक डा. हरपाल सिंह के अनुसार परीक्षा पूरी तरह शांतिपूर्ण रही. रैली के मद्देनजर वाहनों की किल्लत को देखते हुए परीक्षार्थियों को आधे घंटे देरी से पहुचने पर भी परीक्षा में बैठने की अनुमति दी गई थी, लेकिन परीक्षा के लिए निर्धारित अंतिम समय के बाद किसी को कोई भी मोहलत नहीं  दी गई. प्रदेश भर में यह परीक्षा करीब 11 सौ केन्द्रों पर हुई जिसमें लगभग तीन लाख लोगों ने पंजीकरण कराया था.