- गोरखपुर यूनिवर्सिटी कॉमन एंट्रेंस एग्जाम में आने लगी प्रॉब्लम

- फीस सब्मिट करने में स्टूडेंट्स के छूट रहे हैं पसीने

- पिछले दो दिनों से दिक्कत में हैं स्टूडेंट्स

केस - 1

गोरखपुर यूनिवर्सिटी में एडमिशन कराने के लिए कृष्णा ने फॉर्म भरा. रजिस्ट्रेशन प्रॉसेस सक्सेजफुली कंप्लीट हो गई, लेकिन इसके बाद स्टूडेंट का फॉर्म नेक्स्ट फेज के लिए आगे ही नहीं बढ़ पा रहा है. पेमेंट मोड सेलेक्ट करने पर फॉर्म आगे ही नहीं बढ़ पा रहा है, जिससे फॉर्म भर ही नहीं पा रहा है.

केस - 2

राजेश कुमार ने यूनिवर्सिटी और एफिलिएटेड कॉलेजेज में एडमिशन के लिए रजिस्ट्रेशन कराया. पेमेंट मोड पर पहुंचे तो उनके सामने ढेरों ऑप्शन नजर आए. बीए के सामने 'सेलेक्ट' ऑप्शन चुनने के बाद आगे बढ़ी तो बिल डेस्क ऑप्शन नजर आया. इसके बाद प्रोसीड बटन पर क्लिक करने पर पूरी स्क्रीन ब्लैंक हो जा रही है.

यह दो केस महज एग्जामपल भर हैं, ऐसे ही कई केसेज सामने आ रहे हैं, जिसमें फॉर्म भरने के दौरान स्टूडेंट्स को मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है. इसमें जहां कुछ यूजर्स को मोबाइल पर वेबसाइट एक्सेस करने में प्रॉब्लम आ रही है, तो वहीं कुछ डेस्कटॉप या लैपटॉप पर ओपन करने के बाद भी इंतजार करने को मजबूर हैं. काफी मुश्किलों के बाद फॉर्म भर पा रहा है, जिससे कैंडिडेट्स को मुश्किल झेलनी पड़ रही है.

ब्लैंक हो जा रहा है फॉर्म

यूनिवर्सिटी का फॉर्म भरने वाले कैंडिडेट्स को सर्वर के सौतेले व्यवहार से फॉर्म भरने में मुश्किल हो रही है. कुछ स्टूडेंट्स ऐसे हैं, जिनका रजिस्ट्रेशन तो हो जा रहा है, लेकिन फीस पेमेंट में उनको मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है. पास में डेबिट कार्ड लेकर बैठे पेरेंट्स भी स्टूडेंट्स का फॉर्म भरवाने के लिए परेशान हैं. रविवार होने की वजह से वह इसकी शिकायत नहीं कर सके हैं और फॉर्म भरने में आ रही मुश्किलों को यूनिवर्सिटी से शेयर नहीं कर पा रहे हैं.

बॉक्स -

यूनिवर्सिटी का प्रॉब्लम से इनकार

डीडीयू गोरखपुर यूनिवर्सिटी के जिम्मेदारों किसी भी तरह की प्रॉब्लम से साफ इनकार किया है. यूनिवर्सिटी के जिम्मेदारों की मानें तो सर्वर में किसी तरह की प्रॉब्लम नहीं है. यूजर के इंटरनेट और बैंक के सर्वर में कोई प्रॉब्लम हो सकती है. ऐसा इसलिए कि यहां पिछले दो दिनों में करीब 2500 फॉर्म भरे गए हैं, वहीं फीस जमा करने वाले कैंडिडेट्स के आंकड़ों पर नजर डालें तो जहां शनिवार की रात 19 लाख रुपए फीस के तौर पर जमा कर दिए गए थे, वहीं रविवार को यह आंकड़ा 26 लाख तक पहुंच गया. अगर फीस जमा नहीं हो रही होती, तो अकाउंट में भी पैसे नहीं आते. इसलिए तकनीकी कोई प्रॉब्लम नहीं है.

तकनीकी टीम से मिली जानकारी के मुताबिक सर्वर में कोई दिक्कत नहीं है. अगर ऐसी कोई समस्या आ रही है, तो छात्र कंप्यूटर सेल में संपर्क कर सकता है. समस्या का समाधान करवाया जाएगा.

- प्रो. हर्ष सिन्हा, पीआरओ, डीडीयूजीयू