2800

वाहनों का अब तक किया गया ई-चालान

18

बाइक के नंबर प्लेट पर मिले कार व ट्रैक्टर के नंबर

03

कार पर मिले जांच के दौरान ट्रैक्टर के नंबर

ई-चालान बाद ऑन लाइन जांच में बाइक पर मिले कार व ट्रैक्टर के नंबर

अभी तक ई-चालान की जद में आई सभी गाडि़यों के नंबर की अब होगी जांच

mukesh.chaturvedi@inext.co.in

PRAYAGRAJ: ट्रैफिक पुलिस द्वारा वाहनों के किए जा रहे ई-चालान में हैरतंगेज मामले प्रकाश में आ रहे हैं. कई ऐसे लोग पकड़े गए हैं जो बाइक पर कार व ट्रैक्टर के नंबर लिख कर चल रहे थे. बात यहीं तक नहीं है, कुछ लोग ऐसे भी हैं जो कार पर ट्रैक्टर का नंबर लिख कर चल रहे थे. चालान के बाद नंबर द्वारा की गई ई-चेकिंग में यह बात सामने आई है. इसे देखते हुए विभाग बेहद गंभीर हो चुका है. अब, अभी तक चालान की गई सभी गाडि़यों के नंबर की जांच की जाएगी. जितने भी इस तरह के मामले मिलेंगे उनके खिलाफ जुर्माने के साथ अन्य कार्रवाई की जाएगी.

पोल खोल रही ऑनलाइन जांच

ट्रैफिक व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए जिले में करीब पंद्रह दिन से ई-चालान व्यवस्था लागू है. ई-चालान व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों द्वारा अभी तक कुल 2800 वाहनों के चालान किया गया है. ई-चालान के बाद तत्काल मैसेज गाड़ी के रियल मालिक के पास पहुंचा. मैसेज में चेकिंग के समय मिली खामी से लेकर जुर्माने की रकम तक अंकित है. सेंड प्वाइंट पर क्लिक करते ही पूरा ब्योरा एसपी ट्रैफिक कार्यालय में पहुंच जाता है. यहां प्राप्त हर चालान में दर्ज गाड़ी नंबर की ऑनलाइन चेकिंग की जाती है. इस दौरान चौंकाने वाली स्थितियां मिली हैं. विभागीय सूत्र बताते हैं कि 18 बाइक के नंबर प्लेट पर कार व ट्रैक्टर के नंबर मिले हैं. इतना ही नहीं. तीन कार पर जांच में ट्रैक्टर के नंबर पाए गए हैं.

बाक्स

क्या हो सकती है कार्रवाई

नंबर गेम वाली गाडि़यों को अधिकारी हमेशा के लिए सीज कर सकते हैं

गाड़ी चला रहे चालक व उसके मालिक की जांच व पूछताछ की जाएगी

नंबर प्लेट पर दूसरी गाडि़यों के नंबर मिलने पर जुर्माना भी बढ़ाया जा सकता है

अधिकारीे विवेक के अनुसार चालक या मालिक के विरुद्ध रिपोर्ट भी दर्ज करा सकते हैं

रिपोर्ट दर्ज कराई गई तो सम्बंधित के खिलाफ सीधे-सीधे धोखाधड़ी का केस बन सकता है

हालांकि इस तरह की गाडि़यों का चालान विभाग सीधे कोर्ट भेजने के मूड में है

यदि मामला कोर्ट पहुंचा तो सम्बंधित को कोर्ट से जुर्माने के साथ सजा भी हो सकती है

वर्जन

चालान में प्राप्त गाड़ी नंबर से अभी ऑन लाइन जांच की जा रही. बाइक पर कार या ट्रैक्टर के नंबर बहुत कम ही मिले होंगे. इस बात की पूरी जानकारी नहीं है. जांच पूरी होने के बाद ऐसी गाडि़यों को अलग कर सख्त कार्रवाई की जाएगी.

कुलदीप सिंह,

एसपी ट्रैफिक