- प्रेग्नेंसी से लेकर डिलीवरी तक रहें सतर्क

- एक्सपर्ट बोले, मां को रखना चाहिए अपना खास ख्याल

LUCKNOW कोरोना महामारी से कोई भी अछूता नहीं है। बच्चे से लेकर बुजुर्ग सभी इसकी चपेट में हैं। सावधानी और अवेयरनेस ही इससे बचाव का एक मात्र तरीका है। हाल ही में राजधानी में दो प्रेग्नेंट लेडी में भी कोरोना की पुष्टि हुई थी, जिसके बाद हड़कंप मच गया था। कोरोना से बचाव के लिए प्रेग्नेंट लेडी को बहुत सर्तक रहने की जरूरत है। डॉक्टर्स का कहना है कि प्रग्नेंसी के दौरान इम्यून सिस्टम में कई तरह के बदलाव आते हैं, जिसकी वजह से उनमें संक्रमण का खतरा ज्यादा होता है। इसके साथ ही प्रेग्नेंसी के बाद भी सावधानी बरतें। ऐसे में उन्हे विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है।

अभी तक मामला सामने नहीं आया

क्वीन मेरी की एमएस डॉ। एसपी जैसवार ने बताया कि कई लोग पूछते हैं कि क्या संक्रमित मां के गर्भ में बच्चे को कोरोना संक्रमण हो सकता है। अभी मां से बच्चे में ब्लड सर्कुलेशन द्वारा या डिलीवरी के दौरान संक्रमण हो ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है। इस पर रिचर्स चल रही है, लेकिन ओटी में प्रोटोकॉल को फॉलो करते हुये डिलीवरी करानी चाहिए क्योंकि संक्रमण कहां तक कितना फैला है यह बताना थोड़ा मुश्किल होता है।

दूध पिलाते समय बरतें सावधानी

डॉ। एसपी जैसवार ने बताया कि मां के दूध में कोरोना संक्रमण नहीं पाया जाता है। अभी ऐसी कोई रिपोर्ट भी सामने नहीं आई है, लेकिन मां को दूध पिलाते समय विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। अगर मां इसमें सक्षम नहीं है तो बच्चे को दूसरे तरीकों से दूध पिलाना चाहिए।

दूसरों की गोद में ना दें बच्चा

बच्चे की टॉयलेट, नाक के गंदे कण को साफ करने से पहले अपने हाथों को साबुन से अच्छी तरह से धोएं। रूई, साफ कपड़ा या नेपकिन से ही सफाई करें। इसे इस्तेमाल के बाद तुरंत अलग से रखे कूड़ेदान में डाल दें। बच्चे को घर से बाहर ले जाने से बचना चाहिए। इसके अलावा बच्चे को दूसरों की गोद में कम से कम दें।

प्रेग्नेंसी के दौरान रखें ख्याल

- घर में अलग कमरे में रहें

- मास्क का उपयोग करें

- बातचीत करते समय दो मीटर की दूरी रखें

- एक अंतराल के बाद साबुन से हाथ अच्छी तरह से धोएं

- खांसते या छींकते समय रूमाल या टिश्यू पेपर का इस्तेमाल करें

- इम्यूनिटी बढ़ाने वाला आहार ले

- अच्छी नींद के साथ खुद को तनाव मुक्त रखें

- बिना वजह हॉस्पिटल जाने से बचें

इसका भी रखें ध्यान

- साबुन से हाथ और शरीर को अच्छी तरह से धोएं

- मुंह पर मास्क लगाकर रखें

- बेवजह बच्चे को छूने से बचें

- ब्रेस्ट पंप और बॉटल पार्ट को छूने के बाद हाथ जरूर धोएं

- बच्चे को एक्सप्रेस्ड दूध घर के अन्य स्वस्थ व्यक्ति ही पिलाए

- कमरे की साफ सफाई का पूरा ध्यान रखें

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner