- मृतक के पिता की तहरीर पर दर्ज हुआ मुकदमा, सीएम ने छात्र की मौत पर जताया दुख

USNAGAR: पुलिस हिरासत में छात्र की मौत के मामले में सिडकुल चौकी प्रभारी व वहां के अन्य स्टाफ के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है. थर्सडे को चोरी के सिलसिले में पूछताछ के लिए लाए गए छात्र की चौकी की हवालात में मौत हो गई थी.

पुलिस ने परिजनों को नहीं दी सूचना

सिसौना निवासी वीरेंद्र सिंह राणा ने पुलिस को दी तहरीर में कहा है कि नौ जुलाई को सिसौना में राजवीर उर्फ राजा के घर में चोरी की घटना हुई थी. सीसीटीवी फुटेज के शक के आधार पर सिडकुल चौकी प्रभारी पंकज सिंह महर व उनके स्टाफ के पुलिस कर्मियों ने 10 जुलाई को उनके नाबालिग पुत्र धीरज को सुबह साढे़ ग्यारह बजे सिडकुल के रास्ते से ही उठा लिया. इसकी जानकारी उन्होंने परिवारवालों को भी नहीं दी. 11 जुलाई को शाम 4 बजे किसी अन्य व्यक्ति के द्वारा उन्हें फोन पर सूचना दी गई कि उनके पुत्र की पुलिस हिरासत में मौत हो गई.

परिजनों ने हत्या का लगाया आरोप

परिजनों का आरोप है कि पुलिस के अमानवीय कृत्य करने व अनावश्यक पूछताछ करने से उनके पुत्र की मृत्यु हुई है. जिसके लिये सिडकुल चौकी प्रभारी व उनका स्टॉफ जिम्मेदार है. अपर पुलिस अधीक्षक देवेंद्र ¨पचा ने बताया कि वीरेंद्र सिंह की तहरीर पर पुलिस ने चौकी प्रभारी व स्टॉफ के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.

ग्रामीणों ने शव वाहन सड़क पर रोका

रुद्रपुर में पोस्टमार्टम के बाद धीरज का शव लेकर एंबुलेंस उसके घर सिसौना पहुंची. शव पहुंचते ही ग्रामीणों व परिजनों का आक्रोश भड़क उठा. उन्होंने एबुंलेंस को घर के सामने ही सड़क पर ही रोक लिया. आक्रोशित लोगों ने पुलिस पर धीरज को मारने का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया. अधिकारियों ने मौके पर ही तहरीर लेने के बाद परिजन शव घर ले गए.

सीएम ने जताया दुख

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पुलिस हिरासत में स्कूली छात्र धीरज सिंह राणा की मृत्यु पर गहरा दुख व्यक्त किया है. उन्होंने मृतक की आत्मा की शांति की प्रार्थना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है. सीएम ने मृतक के पिता विजेंद्र सिंह राणा को मुख्यमंत्री राहत कोष से दो लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करने के निर्देश अफसरों को दिए.