कानपुर। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के निदेशक आलोक वर्मा को हाल ही में सर्वोच्च न्यायालय (सुप्रीम कोर्ट)ने बहाल कर दिया था। एेसे में आज वह सीबीआर्इ निदेशक के रूप में कार्यभार संभालने के लिए सीबीआर्इ के हेड आॅफिस पहुंचे हैं। यहां उनका वेलकम किया गया। हालांकि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के अनुसार वह अगले एक हफ्ते तक वह कोई नीतिगत फैसला नहीं ले पाएंगे। एेसा इसलिए क्योंकि सुप्रीम कोर्ट में मुख्य न्यायाधीश गोगोई की ओर से फैसला सुनाते हुए न्यायाधीश कौल ने कहा था कि निदेशक का चयन करने वाली उच्च स्तरीय समिति सात दिन के भीतर आलोक वर्मा पर कार्रवाई या कामकाज वापस लेने के बारे में विचार करेगी। एेसे में जब तक इस प्रक्रिया पर विचार होगा तब तक आलोक वर्मा कोर्इ फैसला नहीं ले सकेंगे।  

cbi निदेशक आलोक वर्मा आज संभालने पहुंचे कार्यभार,लेकिन नहीं कर पाएंगे अभी ये काम

वर्मा ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया

बता दें कि बीते अक्टूबर में सीबीआई के शीर्ष अधिकारियों की लड़ाई इन दिनों चर्चा में थी। इस दाैरान सीबीआर्इ के डायरेक्टर राकेश अस्थाना पर रिश्तव लेने के आरोप थे। सीबीआई ने अपने स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के खिलाफ रिश्वतखोरी के आरोप में केस दर्ज किया। वहीं इस मामले में एक नया मोड़ तब अाया जब राकेश अस्थाना ने कहा था कि उन्हें डायरेक्टर आलोक वर्मा फंसा रहे हैं। इसके बाद सरकार द्वारा डायरेक्टर आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेज दिया गया था। इतना ही नहीं राकेश अस्थाना के खिलाफ लगे घूस लेने के आरोपों की जांच कर रही अालोक वर्मा की टीम के सभी लोगों को हटा दिया गया था। एेसे में आलोक वर्मा लंबी छुट्टी पर भेजे जाने से नाराज हुए आैर उन्होंने सरकार के इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था।

रिश्वत केस : डायरेक्टर आलोक पहुंचे सुप्रीम कोर्ट, जानें सबड़े बड़ी जांच एजेंसी CBI में क्यों मचा महासंग्राम

CBI महासंग्राम : सुप्रीम कोर्ट ने 29 नवंबर तक टाली सुनवार्इ, जवाब लीक हाेने से नराज हुए सीजेआर्इ

National News inextlive from India News Desk