-सीएमटीएम एप के माध्यम से होगा प्रैक्टिकल एग्जाम का फोटो लोड

patna@inext.co.in

PATNA(8 Nov):

सीबीएसई बोर्ड से एग्जाम देने वाले स्टूडेंट्स के लिए खुशखबरी है. क्योंकि स्कूल द्वारा प्रैक्टिकल में फर्जीवाड़ा करने वाले स्कूलों पर सीबीएसई लगाम कसने जा रही है. बोर्ड एग्जाम से पहले कई स्कूल प्रैक्टिल में बच्चों के अनुपस्थिति में भी उनका अंक दे देते थे. जिससे उन्हें बिना उपस्थिति के मनचाहा अंक मिल जाता था. बोर्ड नए नियम के अनुसार प्रैक्टिल लैब में बच्चों की उपस्थिति अनिवार्य होगी. जिसका मॉनिटरिंग सीबीएसई के अधिकारी करेंगे.

-फोटो होगा जीओ टैग

सीबीएसई से मिली जानकारी के अनुसार 10 वीं और 12 में पढ़ रहे स्टूडेंट्स को प्रैक्टिकल एग्जाम के समय लैब में उपस्थित होना अनिवार्य कर दिया गया है. एग्जाम के दौरान एग्सटर्नल और इंटरनल एग्जामनर उपस्थित रहेंगे. स्टूडेंट्स के साथ इनका फोटो सीएमटीएम ऐप पर अपलोड किया जाएगा. फोटो अपलोड रजिस्टर्ड नम्बर से ही होगा. पुरानी फोटो डालने पर अपने आप मैसेज आ जाएगा कि ये फोटो सही नहीं है.

-प्रतिभावान बच्चों को होगा फायदा

एक्सपर्ट की माने तो सीएमटीएम एप पर फोटो भेजने से ऐसे स्टूडेंट्स को फायदा होगा जो प्रतिभावान हैं मगर किसी कारण नम्बर कम आ गया है क्योंकि फर्जीवाड़े के तहत स्कूल प्रशासन बिना प्रैक्टिकल किए ही स्टूडेंट्स को नम्बर उन्हें देते थे. ऐसा करने पर स्कूल प्रशासन पर कार्रवाई की जाएगाी. और स्टूडेंट्स को प्रैक्टिकल एग्जाम फेस करने का अवसर मिलेगा.

सीबीएसई ने फर्जीवाड़ा को रोकने के लिए सीएमटीएम एप लाया है. इस एप के माध्यम से प्रैक्टिकल एग्जाम के समय स्टूडेंट्स परीक्षक दोनों का फोटो अपलोड किया जाएगा. जिससे फर्जीवाड़ा अपने आप बंद हो जाएगा.

- डॉ. राजीव रंजन सिन्हा, अध्यक्ष सीबीएसई सहोदिया.

Posted By: Inextlive