- राज्य स्थापना दिवस पर परेड ग्राउंड में आयोजित हुआ भारत-भारती उत्सव

- देश के डिफेंस मिनिस्टर राजनाथ सिंह रहे उत्सव के चीफ गेस्ट

- स्थापना दिवस पर सीएम ने कीं 13 घोषणाएं

देहरादून,

राज्य स्थापना दिवस भारत-भारती उत्सव के रूप में सेलिब्रेट किया गया. देश के डिफेंस मिनिस्टर राजनाथ सिंह उत्सव के चीफ गेस्ट रहे, उन्होंने कहा कि देवभूमि उत्तराखंड को पूरी दुनिया से सम्मान प्राप्त है. उत्तराखंड सैन्यधाम है और देश भर से यहां स्टूडेंट्स पढ़ने के लिए आते हैं, ऐसे में इसे विद्याधाम भी कहा जा सकता है. यहां के शिक्षण संस्थान मिनी इंडिया का रूप हैं. प्रोग्राम में सीएम ने 13 घोषणाएं भी कीं, वहीं हजारों की संख्या में शामिल कई स्कूल्स के स्टूडेंट्स ने देश की सांस्कृतिक एकता का कई रंग उत्सव के दौरान पेश किए.

उत्तराखंड से भावनात्मक लगाव

राज्य स्थापना दिवस पर आयोजित भारत-भारती प्रोग्राम में बतौर चीफ गेस्ट पहुंचे डिफेंस मिनिस्टर राजनाथ सिंह ने प्रदेशवासियों को बधाई देते हुए कहा कि उनका उत्तराखंड से उनका हमेशा भावनात्मक लगाव रहा है. जब उत्तराखंड का निर्माण हुआ था वे ही संयुक्त उत्तर प्रदेश के सीएम थे.खुशी जताई कि उत्तराखंड तेजी से आगे बढ़ रहा है. कहा कि उत्तराखंड 20वें वर्ष में प्रवेश कर गया है, यह ऐसी अवस्था होती है जब सब कुछ कर गुजरने की ललक होती है. साथ ही जोखिम उठाने का भाव भी होता है.

इंडियन कल्चर के दिखे कई रंग

सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने राज्य आंदोलन के शहीदों को याद करते हुए कहा कि राज्य के संतुलित विकास के लिए सरकार प्रयासरत है. राज्य और देश के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है, आज तमाम समस्याओं का निवारण हो रहा है. कहा कि राज्य स्थापना सप्ताह के तहत रैबार, सैनिक सम्मेलन, महिला सम्मेलन, युवा सम्मेलन, फिल्म कॉन्क्लेव के जरिए प्रदेश भर की पब्लिक को प्रतिभाग कराया गया. इन प्रोग्राम्स में राज्य के विकास के कई सुझाव आए हैं, जिनपर विचार किया जाएगा. भारत भारती उत्सव में भारतीय संस्कृति के कई रंग देखने को मिले और सांस्कृतिक एकता का संदेश दिया गया. इस दौरान सूचना विभाग द्वारा प्रकाशित विकास पुस्तिका और बीस सूत्री कार्यक्रम की प्रोग्रेस रिपोर्ट 2018-19 का विमोचन किया गया.

इन स्कूल्स के स्टूडेंट्स ने किया पार्टिसिपेट

यूपीईएस, डीआईटी, ग्राफिक ऐरा, उत्तरांचल यूनिवर्सिटी, दिल्ली पब्लिक स्कूल, डॉल्फिन इंस्टीट्यूट.

विधायक ने एसएसपी को दौड़ाया

भारत-भारती उत्सव में डिफेंस मिनिस्टर के संबोधन के दौरान विधायक देशराज कर्णवाल अपने समर्थकों के साथ नारेबाजी करते हुए पहुंच गए. इससे वहां हड़कंप मच गया. खुद एसएसपी अरुण मोहन जोशी दौड़कर मौके पर पहुंचे और विधायक से आग्रह कर नारेबाजी बंद कराकर तख्तियां नीचे कराईं. इसके बाद पुलिस अफसर विधायक को लेकर मंच तक गए, जबकि समर्थकों को वहीं बैठा दिया.

आंदोलनकारियों ने मनाया राज्य गौरव दिवस

राज्य आंदोलनकारियों ने राज्य स्थापना दिवस को गौरव दिवस के रूप में मनाया. कचहरी परिसर स्थित शहीद स्मारक पर बड़ी संख्या में पहुंचे आंदोलनकारियों ने गौरव दिवस का आयोजन किया. कार्यक्रम में आंदोलनकारियों ने शहीदों को नमन कर श्रद्धांजलि दी. इसके बाद पर मांगल गीत गाकर उत्सव की शुरुआत की. वहीं लोक गीत, हास्य नृत्य नाटिका भी पेश की गई. राज्य स्थापना दिवस पर सीएम के शहीद स्मारक न आने पर राज्य आंदोलनकारियों ने रोष जताया.

स्थापना दिवस पर सीएम की घोषणाएं

- आंगनबाड़ी केंद्रों पर 3 से 6 वर्ष के बच्चों के लिए सप्ताह में 4 दिन दूध, 2 दिन अंडा व केला उपलब्ध होगा.

-राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के समान ही मुख्यमंत्री राज्य कृषि विकास परियोजना लागू होगी.

-वृद्धावस्था, दिव्यांगता, विधवा पेंशन में 200 रुपए की वृद्धि की जाएगी, जो 1 जनवरी 2020 से लागू होगी.

- उपनल, पीआरडी कर्मचारियों का मानदेय बढ़ाकर 500 रुपए प्रतिदिन किया जाएगा. यह भी 1 जनवरी 2020 से लागू होगा.

-इको टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए नीति बनाई जाएगी.

-सीमांत क्षेत्रों के विकास के लिए सीमांत तहसीलों में मुख्यमंत्री सीमांत क्षेत्र विकास योजना लाई जाएगी.

- कामकाजी महिलाओं के बच्चों की देखभाल के लिए सेलाकुईं व रुद्रपुर में महिला हॉस्टल का निर्माण किया जाएगा.

-राज्य में पशुओं का बीमा कराये जाने के लिए बीमा धनराशि की गैप फंडिंग की भरपाई राज्य सरकार द्वारा की जाएगी.

-ग्रामीण क्षेत्रों के लिए सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट योजना बनाई जाएगी.

- राज्य में दीनदयाल उपाध्याय एकीकृत भूकंप सुरक्षा कार्यक्रम का क्रियान्वयन किया जाएगा.

-प्राथमिक स्कूलों में बच्चों को सप्ताह में एक दिन स्वीट मिल्क उपलब्ध कराया जाएगा.

-सभी जिलों में आधुनिक भू बंदोबस्त किया जाएगा. पहले पौड़ी गढ़वाल और अल्मोड़ा जिलों में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में किया जाएगा.

- मिशन इन्द्रधनुष के तहत चिन्हित सेंसिटिव क्ल्स्टर में स्वास्थ्य से इतर अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध कराने के लिए सर्व उत्थान सर्व समृद्धि अभियान चलाया जाएगा.

- लोक कलाकारों के मानदेय को 400 रुपए से बढ़ाकर 600 रुपए और टीम लीडर का मानदेय 500 से बढ़ाकर 700 रुपए किया जाएगा.

Posted By: Inextlive