मामला जुबेनाइल जस्टिस कोर्ट में चल रहा था
राहुल उर्फ रणविजय, राहुल लामा उर्फ राहुल नेपाली उर्फ ऋषभ, दिनेश पासवान और सुशांत कुमार पर चार्ज फ्रेम किया गया. एडवोकेट राजेश कुमार ने बताया कि मेन एक्यूज प्रशांत झा और अरमान का मामला जुबेनाइल जस्टिस कोर्ट में चल रहा था, इसलिए फिलहाल उन पर चार्ज फ्रेम नहीं हो सका.  

प्रशांत भी नहीं रहा माइनर
घटना के सामने आने के बाद मेन एक्यूज प्रशांत झा ने कोर्ट को अपनी उम्र 18 से कम बताई थी, जिसके बाद कोर्ट ने उसे रिमांड होम भेज दिया था. अरमान को भी कोर्ट ने जुबेनाइल माना और उसे भी रिमांड होम भेजने का आदेश दिया गया. अब प्रशांत के कोर्ट ने उसके सर्टिफिकेट के आधार पर जुबेनाइल न मानकर एडल्ट बताया है. जुबेनाइल कोर्ट के इस आदेश के बाद प्रशांत ने डिस्ट्रिक्ट सेशन कोर्ट में अपील की. सोर्सेज की मानें, तो उसे जल्द ही उसे एडल्ट होने पर सेशन कोर्ट की मुहर भी लग जाएगी.

एक साल बाद होगी गवाही
प्रिया के साथ दरिंदगी 14 जून 2012 को की गई. शास्त्रीनगर थाना के राजवंशी नगर के रंभा अपार्टमेंट में हुआ था गैंगरेप. इस केस के चार एक्यूज पर 18 जून 13  को चार्ज फ्रेम हुए ऐसे में एक साल हो चुका है. घटना होने के एक साल बाद अब इसकी गवाही शुरू होगी. इससे पहले इस केस से संबंधित सारे कागजात सुप्रीम कोर्ट ने मंगवा लिया था और काफी दिनों तक वहां सुनवाई हुई. बाद में सुप्रीम कोर्ट से सारे डॉक्यूमेंट आने के बाद यहां ट्रायल चल सका और चार्ज फ्रेम हो सका.

Nano info
घटना - 14 जून 2012
घटनास्थल - रंभा अपार्टमेंट फ्लैट नम्बर 301, राजवंशी नगर
महिला थाने में एफआईआर - 24 जुलाई 2012
चार्ज फ्रेम - 18 जून 2013
गवाही की अगली तारीख- 5 जुलाई 2013

Accused
प्रशांत  झा
अरमान
सुशांत कुमार
राहुल लामा उर्फ राहुल नेपाली
राहुल उर्फ रणविजय
दिनेश पासवान

i impact: Gangrape case, Prashant, Lama & Armaan arrested