-औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने कहा, केंद्र सरकार से तीन बार हो चुकी मीटिंग, मिलों को चालू करने का तैयार हो रहा है प्लान

kanpur@inext.co.in

KANPUR : कभी दुनिया में मैनचेस्टर ऑफ ईस्ट के नाम से अपनी धमक बनाने वाले कानपुर की औद्योगिक छवि को वापस लौटाने के लिए प्रयास शुरू हो गए हैं. कानपुर से ही वरिष्ठ विधायक और औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना भी इसको लेकर काफी गंभीर हैं. मंडे को एक कार्यक्रम में आए महाना ने कहा कि शहर की बंद पड़ी मिलों को शुरू करने के प्रयास शुरू कर दिए गए हैं. इसके लिए केंद्र और राज्य सरकार के बीच तीन बार मीटिंग भी हो चुकी है.

जल्द मिलेगी खुशखबरी

औद्योगिक मंत्री सतीश महाना ने बताया कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से कानपुर में बंद मिलों को फिर से शुरू करने पर बातचीत चल रही है. मिलों को कैसे और कब शुरू करना है इस पर बात चल रही है. जल्द ही कानपुरवासियों को मिल खुलने की खुशखबरी दी जाएगी. इससे बड़ी संख्या में लोगों को अपने ही शहर में रोजगार मिल सकेगा. दूसरे शहरों की ओर हो रहा पलायन कम होगा.

सालों से लगा है ताला

चार दशक पहले तक स्वदेशी, लाल इमली, एल्गिन मिल सहित शहर में दर्जनों मिलें थीं. जिनमें हजारों की संख्या में लोग काम करते थे. मिलों के प्रोडक्ट्स की धाक विदेशों तक थी. लेकिन धीरे-धीरे कर सभी मिलें बंद हो गई. जिससे कानपुर की औद्योगिक पहचान भी गुम हो गई. अब प्रदेश और देश दोनों में एक ही सरकार होने के साथ प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री कानपुर से ही होने के कारण लोगों में शहर की पुरानी छवि लौटने की उम्मीद जगी है.