- ढाई बजे रेलवे स्टेशन को उड़ाने की मिली धमकी, 7.30 बजे मिला लंच भरा टिफिन

- धमकी के बाद जांच में जुटी रही आरपीएफ, जीआरपी, एसपी सिटी भी मौके पर पहुंचे

GORAKHPUR: जिला पुलिस कंट्रोल में सोमवार को ढाई बजे टेलीफोन की घंटी बजी. कॉल रिसीव करते ही पुलिस वाले के कान में खतरे की घंटी बज गई. उधर से कहा गया कि रेलवे स्टेशन पर बम है, जो थोड़ी देर में फटने वाला है, बचा सकते हो तो बचा लो.. आनन-फानन में जीआरपी, आरपीएफ ने बम की तलाशी शुरू कर दी. साथ में जिला पुलिस भी लग गई. मौके पर एसपी सिटी हेमराज मीणा, सीओ कैंट अभय मिश्रा डाग स्क्वायड, बम निरोधक दस्ता पहुंच गए. स्टेशन से लेकर ट्रेंन के अंदर तक जांच चली. कहीं कुछ नहीं मिला. शाम 7.30 बजे प्लेटफॉर्म नंबर दो पर एक लावारिस टिफिन मिली. खोलने पर उसमें लंच मिला. इसके बाद रेल प्रशासन व पुलिस ने राहत की सांस ली.

पश्चिमी यूपी से आया था फोन

जिस नंबर से फोन आया था उसका लोकेशन पश्चिमी यूपी पाई गई. पुलिस तलाश में जुट गई है. वैसे तो पुलिस इसे किसी की शरारत मान रही है लेकिन खतरे को देखते हुए स्टेशन पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है. कानपुर में रेल हादसे में आतंकी हाथ सामने आने के बाद से ही सुरक्षा एजेंसियां सक्रिय हैं. ऐसे समय में स्टेशन उड़ाने की धमकी मिलने पर पुलिस कोई रिस्क नहीं लेना चाहती थी. इसलिए पूरा अमला ही बम ढूंढने में लग गया.

चप्पे-चप्पे की तलाशी

स्टेशन पर बम होने की सूचना प्रसारित होते ही रेलवे पुलिस को सूचना दी गई. पुलिस तुरंत ही सक्रिय हो गई और स्टेशन पर ट्रेन समेत प्लेटफॉर्म की चेकिंग शुरू कर दी गई. एसपी सिटी भी फोर्स के साथ पहुंच गए. करीब घंटों स्टेशन की जांच की गई मगर कोई भी आपत्तिजनक सामान नहीं मिला. इसके अलावा जीआरपी व आरपीएफ की टीम भी डॉग स्क्वायड व बम स्क्वायड के साथ शाम तक स्टेशन के चप्पे-चप्पे की चेकिंग करती रही, लेकिन सूचना फर्जी निकली.

लावारिस टिफिन से मचा हड़कंप

अभी तलाशी चल ही रही थी कि शाम 7.30 बजे प्लेटफॉर्म नंबर दो पर पड़े एक लावारिस टिफिन से हड़कंप मच गया. सूचना पर आरपीएफ व जीआरपी की फोर्स सहित डाग स्क्वायड व बम निरोधी दस्ता मौके पर पहुंच गए और तत्काल एरिया को कब्जे में ले लिया. टिफिन को खोला गया तो उसमें खाना मिला. जांच एजेंसियों के मुताबिक टिफिन किसी पैसेंजर का है, जो छूट गया होगा.

--------

वर्जन

पुलिस कंट्रोल रूम में स्टेशन पर बम होने की सूचना आई थी. जिला पुलिस के साथ मिलकर जांच की गई लेकिन कुछ नहीं मिला. सूचना देने वाले की तलाश की जा रही है.

तनवीर अहमद खान, सीओ, जीआरपी