agra@inext.co.in
FIROZABAD : बाईपास रोड पर नगला बरी चौराहे के निकट प्राइवेट नर्सिंग होम के चिकित्सकों की लापरवाही से बीमार बालक की मौत हो गई। परिजनों ने नर्सिंग होम में जमकर हंगामा काटा। डॉक्टर पीछे के रास्ते से फरार हो गए। पुलिस ने परिजनों को समझा-बुझाकर मामला शांत करा दिया।

प्राइवेट अस्पताल का है मामला
थाना रसूलपुर क्षेत्र के अन्तर्गत नगला बरी चौराहे के पास नर्सिंग होम में 21 दिसम्बर को 10 वर्षीय छात्र हेमंत को परिजनों ने भर्ती कराया था। छात्र को निमोनिया हो गया था। हालत खराब होने पर परिवार के लोग प्राईवेट नर्सिंग होम लेकर आए थे। छह दिन तक इलाज चलता रहा। गुरुवार की रात्रि करीब 11 बजे बालक को सांस लेने में दिक्कत आने लगी। चिकित्सकों ने बालक के ऑक्सीजन लगाने में लापरवाही बरती, जिससे बालक हेमंत की मौत हो गई। परिजनों ने रात्रि में ही हंगामा मचाना शुरू कर दिया।

जबरन लगाई थी ऑक्सीजन
मृत बालक के परिजनों का आरोप है कि नर्सिंग होम के चिकित्सकों द्वारा जबरन ऑक्सीजन लगाने के कारण बालक हेमंत की मौत हुई है। अगर ऑक्सीजन नहीं लगती तो बच्चा काल के गाल में नहीं समाता। भीड़ को देखकर अस्पताल का स्टाफ मौके से फरार हो गया। हंगामे की जानकारी मिलने पर थाना प्रभारी रसूलपुर तेजबहादुर चन्देल, थाना उत्तर प्रभारी रबिन्द्र दुबे मौके पर पहुंच गए। उन्होंने परिजनों को समझा-बुझाकर शांत कर दिया। परिजनो ने नर्सिंग होम संचालक व चिकित्सकों के खिलाफ थाना रसूलपुर में तहरीर दी है।

डॉक्टर व संचालक फरार
नर्सिंग होम के चिकित्सक व संचालक के हौसले इतने बुलन्द है कि उन्होंने बालक के शव को अस्पताल के पीछे के गेट से ले जाकर पीछे खड़ी एम्बुलेंस में रख दिया और मौके से फरार हो गए। लोगों का आरोप है कि इस अस्पताल में यह घटना नई नहीं है। नर्सिंग होम के चिकित्सक कई मासूमों की जानें ले चुके हैं। परन्तु अभी तक ऐसे लोगो के खिलाफ पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की है।

दोषियों के खिलाफ होगी कार्यवाही
सीएमओ डॉ। एसके दीक्षित ने कहा कि बच्चे की मौत के सम्बन्ध में मुझे जानकारी नहीं है। नर्सिंग होम की जांच कराई जाएगी। इस प्रकरण में लापरवाही बरतने वाले चिकित्सको के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।

सिर्फ इसलिए सऊदी से शौहर ने दिया फोन पर तलाक, दर्ज हुर्इ FIR

ट्रिपल तलाक पर अध्यादेश को लेकर महिलाओं ने जाहिर की खुशी

Crime News inextlive from Crime News Desk