JAMSHEDPUR: आजादनगर थाना की पुलिस ने धतकीडीह निवासी आशीष मुखी को बच्चे का अपहरण कर ले जाने का प्रयास करने के आरोप में शुक्रवार को जेल भेज दिया. इससे पहले पुलिस ने एमजीएम अस्पताल में उसकी जांच भी कराई. बताते चलें कि गुरुवार को आजादनगर में लोगों ने आरोपी को बच्चे को ले जाते हुए पकड़ने के बाद पुलिस को सौंप दिया था.

क्या है मामला

इस मामले में आजादनगर थाना में बच्चे की मां (ओल्ड पुरुलिया रोड निवासी) रिजवाना परवीन ने शिकायत की थी. शिकायत में बताया था कि उसका नौ वर्षीय पुत्र मो. ताहा 11 जुलाई की शाम को सात बजे अपने घर से सामान खरीदने के लिए पुरुलिया रोड स्थित दुकान गया था. उसी समय एक अंजान युवक ताहा को रुपये का लालच देकर बहला-फुसलाकर पारडीह की ओर ले जाने की कोशिश करने लगा. इसी बीच महिला (रिजवाना) का भाई मो. जीशान पारडीह की ओर से घर आ रहा था. उसने देखा कि मो. ताहा एक अंजान युवक के साथ पारडीह की ओर जा रहा है. भाई ने उसे पकड़कर पूछताछ की तो ताहा ने अंजान युवक का नाम नीतेश बताया. ताहा ने कहा कि युवक उसे यह कहकर ले जा रहा है कि तुम्हारे पापा ने पैसे दिए हैं, जो तुम्हें देना है. इतना बताते ही भाई ने युवक को पकड़ लिया. इसपर युवक ने अपना नाम आशीष मुखी, बिष्टुपुर थाना क्षेत्र धतकीडीह का रहने वाला बताया. बता दें कि बच्चे के पिता इयार मोहम्मद ऑटो चालक है.

बयान बदल रहा युवक

पटमदा डीएसपी विजय महतो ने बताया कि आशीष मुखी बच्चे के अपहरण मामले में बदल-बदल का बयान देता रहा. एक बात पर भी वह अडिग नहीं रहा. पूछताछ में बताया कि बच्चे को यह बोलकर साथ ले जा रहा था कि बच्चे के पिता ने रुपये दिए हैं. उसे देना है. बच्चे के पिता को पहचानने की बात पूछे जाने पर कहा कि वह उसे नहीं जानता. यह पूछने पर कि बच्चे को क्यों ले जाना चाहता था, वह कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे पा रहा.