बीजिंग (पीटीआई)चीन में कोरोना वायरस के 42 नए मामले सामने आए हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि इसमें 38 आयातित संक्रमण के मामले शामिल है और कुल मिलाकर चीन में अब तक 81,907 लोग इस वायरस के चपेट में आ गए हैं। देश में संक्रमितों की बढ़ती संख्या को लेकर सरकार की चिंता बढ़ गई है। इसलिए, अब प्रशासन ने कोरोना से ठीक हुए मरीजों की जांच फिर से शुरू कर दी है। चीनी स्वास्थ्य प्राधिकरण ने शुक्रवार को यह भी कहा कि देश में कोरोना के ऐसे 47 मरीज सामने आए हैं, जिनमें बीमारी का कोई भी लक्षण नहीं दिखा है।

लॉकडाउन हटाने के बाद लिया गया इस तरह का निर्णय

देश में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए चीन ने गुरुवार को एक नए ट्रायल प्रोटोकॉल का अनावरण किया जिसमें ठीक हुए कोरोना वायरस रोगियों के पुन: टेस्ट के अलावा स्पर्शोन्मुख (नहीं दिखता बीमारी का लक्षण) मामलों की जांच को तेज किया गया है। फिर से जांच करने का निर्णय चीन द्वारा वुहान में 76-दिवसीय लॉकडाउन हटाने के एक दिन बाद आया है, जहां महामारी की उत्पत्ति हुई थी। वहीं, एनएचसी ने बताया कि 1,097 स्पर्शोन्मुख मामले अभी भी मेडिकल ऑब्जरवेशन में हैं। स्पर्शोन्मुख मामले उन लोगों को संदर्भित करते हैं जो कोरोना वायरस से संक्रमित होते हैं लेकिन उनमें बुखार, खांसी या गले में खराश जैसे कोई लक्षण नहीं दिखते हैं। साथ ही, वह दूसरों को तेजी से यह वायरस फैलाते हैं।

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk

inext-banner
inext-banner