नई दिल्ली (पीटीआई)। भारत सरकार द्वारा 59 चाइनीज एप्लीकेशन पर बैन लगाने के एक दिन बाद आज टिकटाॅक कंपनी की तरफ से पहली प्रतिक्रिया आई है। टिकटाॅक ने मंगलवार को कहा कि वह एप ब्लॉक करने पर सरकार के आदेश का अनुपालन करने की प्रक्रिया में है। हालांकि उन्होंने दावा किया कि उसने चीन सहित किसी भी विदेशी सरकार के साथ इंडियन यूजर्स की जानकारी साझा नहीं की है। कंपनी ने कहा कि उसे जवाब देने और स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के अवसर के लिए संबंधित सरकारी हितधारकों के साथ मिलने के लिए आमंत्रित किया गया है।
एप स्टोर से गायब हुआ टिकटाॅक
भारत ने सोमवार को 59 चीनी एप पर प्रतिबंध लगाकर चीन में हड़कंप सा मचा दिया। बैन होने वाले एप में लोकप्रिय टिकटाॅक और यूसी ब्राउजर शामिल हैं, जिसमें कहा गया है कि वे देश की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा के लिए पूर्वाग्रह से ग्रस्त थे। इस बीच, टिकटाॅक एप को गूगल प्ले स्टोर और एप्पल एप स्टोर से हटा लिया गया है। सूत्रों के मुताबिक, कंपनी ने खुद इन एप स्टोर्स से एप को हटाने का निर्णय लिया है। टिकटाॅक इंडिया के प्रमुख निखिल गांधी ने कहा, 'भारत सरकार ने TikTok सहित 59 एप को बैन करने के लिए एक अंतरिम आदेश जारी किया है, और हम इसके अनुपालन की प्रक्रिया में हैं। हमें जवाब देने और स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के अवसर के लिए संबंधित सरकारी हितधारकों के साथ मिलने के लिए आमंत्रित किया गया है।"


डेटा चोरी नहीं करने का दावा
टिकटाॅक ने कहा, उसने भारतीय कानून के तहत सभी डेटा गोपनीयता और सुरक्षा नियमों का पालन किया है और भारत में अपने उपयोगकर्ताओं की कोई भी जानकारी किसी भी विदेशी सरकार के साथ साझा नहीं करता है, जिसमें चीनी सरकार भी शामिल है। उन्होंने कहा, "अगर हमसे अनुरोध किया जाता है कि भविष्य में हम ऐसा नहीं करेंगे। हम उपयोगकर्ता की गोपनीयता और अखंडता पर सबसे अधिक महत्व देंगे।'

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Technology News inextlive from Technology News Desk