-15 जनवरी तक टेंट सिटी तैयार करने का आदेश बना चुनौती

-खम्भों को सिल्वर कलर कराने में जुटे अधिकारी और कर्मचारी

varanasi@inext.co.in

VARANASI

प्रवासी भारतीय सम्मेलन को यादगार बनाने के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार पूरी शिद्दत से जुटी है. जिला प्रशासन के साथ हर विभाग अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन कर रहा है. टेंट सिटी, एग्जिबिशन कम्पाउंड बनाने के चल रहे कार्य को पूरा करने का समय तय है. निर्माण कार्य एजेंसी करा रही है, लेकिन इस बीच बनारस पहुंचीं प्रदेश की एनआरआई मंत्री स्वाति सिंह व एक और राज्यमंत्री के तय समय से पहले चल रहे कार्यो को पूरा कराने के दिये गए आदेश के बाद से अधिकारी हैरान हैं. वीडीए उपाध्यक्ष भी आदेश का पालन कराने में जुट गए हैं.

जबकि डेडलाइन है 18

प्रवासी भारतीय दिवस के मद्देनजर आए दिन वाराणसी में वीआईपी दौरा हो रहा है. खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तैयारी का जायजा लिया था. सीएम योगी आदित्यनाथ शुक्रवार सुबह तैयारी देखेंगे. योगी सरकार की राज्यमंत्री स्वाति सिंह भी बुधवार को पहुंचीं. उन्होंने टेंट सिटी का निरीक्षण किया. काम की प्रगति से वह संतुष्ट नहीं थीं. उन्होंने काम कर रही एजेंसी को हर-हाल में 15 जनवरी तक टेंट सिटी तैयार कराने का आदेश दिया, जबकि टेंट सिटी को तैयार करने की डेड लाइन 18 जनवरी है. आदेश का पालन कराने के लिए गुरुवार सुबह प्राधिकरण उपाध्यक्ष राजेश कुमार टेंट सिटी पहुंचे. उन्होंने भी 15 तक टेंट सिटी तैयार करने की रट शुरू कर दी. वे 18 को भूल गए. एजेंसी के अधिकारी ने बताया कि 18 की बजाय 15 तक तैयार करना बड़ी चुनौती है. इस आदेश से हम लोग भी हैरान हैं. इसी तरह एक दिन पहले मंगलवार को राज्यमंत्री नीलकंठ तिवारी ने प्रवासी सम्मेलन के मद्देनजर शहर के खम्भों को 15 तक सिल्वर कलर में कराने का फरमान सुनाया है. आदेश का पालन भी होने लगा है.

वर्जन--

सम्मेलन बड़ा है. इसमें केंद्र के साथ प्रदेश सरकार भी भागीदार है. इसे सफल बनाने की जिम्मेदारी प्रदेश के मंत्रियों की भी है. वह अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन कर रहे हैं. यह तो अच्छी बात है.

राजकुमार, सहायक नोडल अधिकारी