मिर्जामुराद में प्रमुख चार्जिग स्टेशन खुलेगा

शहर के 63 रूटों पर चलेंगी 50 इलेक्ट्रिक बसें

varanasi@inext.co.in

VARANASI

शहर में बढ़ते एयर पॉल्यूशन को कम करने और इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए बनारस की सड़कों पर बहुत जल्द ही इलेक्ट्रिक बसें दौडें़गी. फ‌र्स्ट फेज में 50 बसें चलाने की योजना है. मिर्जामुराद में चार्जिग स्टेशन खुलेगा. जिला प्रशासन ने इसका प्रपोजल बनाकर नगरीय विभाग को भेजा है. इसके अलावा शहर के हर छोर पर चार्जिग स्टेशन खोलने की योजना है. इसके लिए रोडवेज विभाग ने जमीन की तलाश शुरू भी कर दी है.

आठ घंटे में फुल चार्ज होगी बस

रोडवेज विभाग के अधिकारी ने बताया कि इलेक्ट्रिक बस के संचालन से शहर का प्रदूषण कम होगा. चार्जिग प्वाइंट में लगने के बाद एक बस करीब आठ घंटे में फुल चार्ज होगी. एक बार फुल चार्ज होने पर इलेक्ट्रिक बस करीब 200 किमी का सफर तय करेगी. इस में सफर काफी आरामदायक होगा और किराया भी कम हो सकता है.

चार्जिग स्टेशन को प्रपोजल शासन को भेजा

अधिकारी ने बताया कि इलेक्ट्रिक बस का मुख्य चार्जिग स्टेशन मिर्जामुराद में खोलने की योजना है. इसके अलावा रामनगर, बाबतपुर, मोहनसराय बाईपास, सारनाथ के पास भी चार्जिग प्वाइंट भी होंगे. इसका प्रपोजल जिला प्रशासन की ओर से लखनऊ स्थित नगर विकास मंत्रालय भेजा गया है. मंजूरी मिलते ही इस पर काम शुरू हो जाएगा.

सिटी रूट पर ही चलेगी इलेक्ट्रिक बस

रोडवेज अधिकारी ने बताया कि सिटी बस की तरह शहर के 63 रूटों पर 50 इलेक्ट्रिक बसें भी चलाई जाएंगी. वाराणसी शहर से अन्य जनपद चंदौली में मुगलसराय, चकिया, धानापुर, चहनियां व नौगढ़, मिर्जापुर में चुनार व कछवां बाजार, गाजीपुर में कैथी-सैदपुर, जौनपुर में केराकत, जलालपुर तक चलाने की योजना है. शहर में एयरपोर्ट सेवा, बीएचयू, रामनगर, पड़ाव, कंदवा, रामेश्वरम, हरहुआ, चौबेपुर, जाल्हूपुर, डाफी, सीरगोवर्धन आदि क्षेत्रों तक इलेक्ट्रिक बसें चलाने की योजना है.

वर्जन...

बहुत जल्द ही बनारस में इलेक्ट्रिक बसें दिखेंगी. शासन ने खुद फ‌र्स्ट फेज में वाराणसी में 50 बसें चलाने की पहल की है. इसके लिए मिर्जामुराद में जगह का चयन कर लिया गया है. प्रपोजल भी नगर विकास मंत्रालय को भेजा गया है.

-एसएन पाठक, प्रभारी- सिटी बस रोडवेज विभाग