-पान और गुटखा खाकर इधर-उधर थूकने वालों पर लगेगा जुर्माना

-शहर को साफ रखने के लिए नगर निगम ने झोंकी ताकत

varanasi

पान और गुटखा खाकर इधर-उधर थूकने वालों के लिए ये बुरी खबर है. अगर उन्होंने अपनी इस आदत को नहीं बदला तो उनकी जेब ढीली होगी. स्वच्छता अभियान के तहत शहर की सफाई में पूरी ताकत झोंकने वाले नगर निगम के साथ ही लोकल एडमिनिस्ट्रेशन ने शहर के लोगों से गंदगी न करने की अपील करते हुए चेतावनी दी है कि कोई पान, गुटखा खाकर थूकते पकड़ा गया तो उस पर जुर्माना लगाया जाएगा. वो भी पांच सौ रुपये. ये जुर्माना हर बार पकड़े जाने पर लगाया जाएगा.

बिगाड़ देते हैं खूबसूरती

बनारस की पहचान पान खाने वाले इस शहर में लोगों की संख्या अच्छी-खासी है. शौकीन बिना पान घुलाए कोई काम नहीं कर सकते हैं. हर वक्त उनके मुंह में पान होता है. लेकिन ऐसे लोग पान की पीक कहीं थूक देते हैं. यह भी नहीं देखते हैं कि वो कोई साफ-सुथरी जगह है या सुंदर रंगों से सजी बिल्डिंग. वो तो जहां दिल किया वहां पीक से उसे लाल कर देते हैं. शहर में ऐसी कोई जगह नहीं मिलेगी जहां लोगों ने अपने पीक से लाल नहीं किया हो. सबसे खराब हालत तो शहर के डिवाइडर और सरकारी बिल्डिंग की है. यहां गंदगी तो रोज होती है लेकिन साफ-सफाई कई सालों में एक-दो बार

नहीं बचेगा कोई

देश के कई शहरों के बीच चल रहे स्वच्छता सर्वेक्षण में बनारस को सम्मानजनक स्थान दिलाने के लिए नगर निगम ने पूरी ताकत झोंक दी है. स्थानीय प्रशासन को उसका भरपूर सहयोग मिल रहा है. उसने पान-गुटखा खाकर इधर-उधर थूकने वालों पर पांच सौ रुपये का जुर्माना लगाने की चेतावनी दी है. वहीं डीएम और सीडीओ ने सभी सरकारी भवनों में गंदगी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई का निर्देश दिया है. शहर की सफाई का आंकलन करने आने वाली सर्वेक्षण टीम अब ख्ख् जनवरी को बनारस आएगी. इसके पहले दस जनवरी को टीम को आना था. नगर को साफ रखने का थोड़ा वक्त और मिलने से नगर निगम ने राहत महसूस की है. उसने हर कोने को साफ करने की कवायद तेज कर दी है.

शहर को साफ रखने की जिम्मेदारी सभी की है. सभी मिलकर इसे साफ रखेंगे. वहीं उनके खिलाफ कड़ा कदम उठाया जा रहा है जिनकी गंदगी करना आदत में शामिल है.

श्री हरि प्रताप शाही

नगर आयुक्त