बुधवार से शुरू हो रहा सावन का महीना, कांवर मार्गो पर जगह-जगह दिख रहे गढ्डे

varanasi@inext.co.in

VARANASI

धर्म नगरी काशी में हर माह का धार्मिक महत्व है. इसमें सावन विशेष है. सावन में शहर के आठ मार्गो से होकर दूर-दूर से लाखों भक्त बाबा विश्वनाथ को जल चढ़ाने आते हैं और पंचक्रोशी यात्रा भी की जाती है. लेकिन इस बार थोड़ी सी बारिश में अधिकतर सड़कें बह गई. सभी कांवर मार्गो पर ढेरों गढ्डे हो गये हैं. गिट्टी उखड़ गयी है. कोई मार्ग ऐसा नहीं है, जिस पर हिचकोले खाये बगैर बाबा के दरबार पहुंचा जा सके. शुक्रवार को बनारस दौरे पर आये मुख्य सचिव अनूप चंद पांडेय ने 15 जुलाई तक एनएचआई और लोक निर्माण विभाग को सभी सड़कों को दुरुस्त करने का आदेश दिया था.

बेमानी होता है आदेश

शहर की खस्ताहाल सड़कों के दिन जल्द ही बहुरेंगे ऐसी आस तो जगी, लेकिन एक चिंता भी है, क्योंकि ऐसे आदेश कमिश्नर अक्सर देते रहते हैं और समय भी तय करते हैं, लेकिन आदेश हमेशा बेअसर रहता है. कांवर यात्रा को लेकर मुख्य सचिव अनूप चंद पांडेय शुक्रवार को वाराणसी दौरे पर थे. उन्होंने भी 15 जुलाई तक सड़कों की हालत सुधारने का आदेश दिया, लेकिन उनका आदेश भी हवा-हवाई हो गया. समय बीत गया और सड़कों की स्थिति में कोई सुधार नहीं दिखा.

बीमारी दे रही हैं सड़कें

- बारिश के बाद शहर की अधिकतर सड़कें खराब हैं

- इन सड़कों पर वाहनों से डेली से आने-जाने वालों को हेल्थ की प्रॉब्लम हो रही है

- कमर और गर्दन का दर्द आम समस्या हो गया है

- डॉक्टरों की मानें तो डेली जो लोग खराब सड़कों पर चल रहे हैं उनको स्पांडिलाइटिस की प्रॉब्लम हो सकती है

शहर में आठ कांवर रूट

कांवर रूट-1

- राजातालाब, मोहन सराय, रोहनियां, मढ़ौली तिराहा, मंडुवाडीह चौराहा, आकाशवाणी, रथयात्रा, गुरुबाग, लक्सा, रामापुरा चौराहा, गौदोलिया चौराहा से होते हुए श्री काशी विश्वनाथ मंदिर

कांवर रूट-2

जंसा, लोहता, चांदपुर चौराहा, मंडुवाडीह चौराहा, आकाशवाणी, रथयात्रा, गुरुबाग, लक्सा, रामापुरा चौराहा, गौदोलिया चौराहा से होते हुए श्री काशी विश्वनाथ मंदिर

कांवर रूट-3

बाबतपुर, तरना, गिलट बाजार, भोजूबीर, दैत्रावीर, वरुणापुल, अंधरापुल, तेलियाबाग, लहुराबीर, कबीरचौरा चौराहा, मैदागिन चौराहा से होते श्री काशी विश्वनाथ मंदिर

कांवर रूट-4

चोलापुर, लालपुर, पांडेयपुर चौराहा, हुकुलगंज, ताड़ीखाना, चौकाघाट, तेलियाबाग, लहुराबीर, कबीरचौरा चौराहा, मैदागिन चौराहा से होते श्री काशी विश्वनाथ मंदिर

कांवर रूट-5

-आशापुर, कज्जाकपुरा, भदऊचुंगी, मछोदरी, कोतवाली, मैदागिन से होते श्री काशी विश्वनाथ मंदिर

कांवर रूट-6

-राजघाटपुल, भदऊचुंगी, मछोदरी, कोतवाली, मैदागिन से होते श्री काशी विश्वनाथ मंदिर

कांवर रूट-7

-टेगंरामोड़, रामनगर चौराहा, रामनगर किला, सामने घाट, ट्रामा सेंटर, नगवा पुलिस चौकी, रविदास गेट, अस्सी, सोनारपुरा, गौदोलिया से होते श्री काशी विश्वनाथ मंदिर

कांवर रूट-8

-डाफी, सुसुवाही, करौंदी, नरिया, मालवीय गेट, अस्सी, सोनारपुरा, गौदोलिया से होते श्री काशी विश्वनाथ मंदिर

-------

बारिश में शहर की सड़कों का हाल हर साल ऐसा ही होता है. इसकी वजह है निर्माण के दौरान घटिया मैटेरियल का यूज होना. अगर निर्माण के वक्त ही मानकों का पालन किया जाए तो सड़कों का ये हाल ही नहीं होगा.

राजेश यादव, पंचक्रोशी

प्रशासन को चाहिए कि हर साल बारिश के पहले सड़कों को अच्छे से बनवाए. जितना बजट आये सड़क निर्माण में उसका पूरा यूज हो बंदरबाट न हो. बदहाल सड़कें बजट के बंदरबाट का नतीजा हैं.

सुरेंद्र विश्वकर्मा, नरिया