- सामनेघाट, नगवां, अस्सी क्षेत्र में गंगा ने पकड़ा रौद्ररूप

गंगा एवं वरुणा में बढ़ाव के कारण शहर से लेकर गांव तक बाढ़ का कहर जारी है. एक ओर जहां सामनेघाट, नगवां, अस्सी, रमना आदि क्षेत्र में गंगा ने रौद्ररूप धारण कर लिया है, वहीं दूसरी ओर वरुणा किनारे निचले हिस्सों के घरों में पानी घुसने से लोग दहशत में हैं. आलम यह है कि लोग छतों पर या अन्य ठिकानों पर रहने को मजबूर हो गए हैं. एनडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू कर 92 परिवारों को राहत शिविर में शिफ्ट किया. हालांकि गुरुवार की शाम को गंगा के स्थिर होने की सूचना ने लोगों को राहत जरूर दी लेकिन प्रयागराज में लगातार बढ़ाव से लोगों की आफत बढ़ गई है. केंद्रीय जल आयोग के अनुसार 20 सितम्बर को भी बढ़ाव रहेगा. अनुमान है कि शुक्रवार सुबह आठ बजे तक जल स्तर 71.70 मीटर तक पहुंच जाएगा.

आज भी जारी रहेगा बढ़ाव

यमुना के रास्ते गंगा में चंबल के पानी पहुंचने से भी बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हुई है. केंद्रीय जल आयोग के अधीक्षण अभियंता रवींद्र सिंह ने बताया प्रयागराज से बलिया तक गंगा एवं एलग्निब्रिज से तुर्तीपार तक घाघरा में बढ़ाव जारी रहने की संभावना है.

71.46

मीटर गुरुवार की सुबह 8 बजे दर्ज किया गया जलस्तर

71.52

मीटर गुरुवार शाम 6 बजे तक दर्ज किया गया जलस्तर

71.53

मीटर गुरुवार शाम 8 बजे तक दर्ज किया गया जलस्तर

71.92

मीटर गुरुवार सुबह 8 बजे तेनुई में वरुणा का पानी