इलाहाबाद में 90 परीक्षा केन्द्रों पर हुई सिविल सर्विसेस प्री 2018 की परीक्षा

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: यूपीएससी नई दिल्ली की सिविल सर्विसेस प्री एग्जाम 2018 का आयोजन रविवार को किया गया. इस परीक्षा में परीक्षार्थियों की कुल संख्या 43,621 थी. इसमें से प्रथम पाली की परीक्षा में 21,574 परीक्षार्थी एवं द्वितीय पाली में 21,255 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए. परीक्षा का समय दिन में 09:30 से 11:30 एवं 02:30 से 04:30 बजे के मध्य था. परीक्षा का आयोजन 90 परीक्षा केन्द्रों पर किया गया.

सामान्य अध्ययन के सवालों की संख्या

इकोनॉमिक्स- 13

ज्योग्राफी- 12

इंडियन पोलिटी- 11

मॉडर्न हिस्ट्री- 12

मिडिवल हिस्ट्री- 02

आर्ट एंड कल्चर- 06

साइंस एंड टेक्नोलॉजी- 09

बायोलॉजी- 04

गवर्नमेंट पालिसी- 12

करेंट अफेयर्स- 19

ऐसा रहा प्रश्न पत्र

-सामान्य अध्ययन का प्रथम प्रश्न पत्र नवीनता पर आधारित रहा.

-बड़ी संख्या में ऐसे सवाल रहे जिन्हें समझना परीक्षार्थियों के लिए कठिन रहा.

-खासतौर पर अन्तर्सम्बन्ध से जुड़े सवालों ने खूब छकाया.

-इसमें कुल 100 सवालों में 31 सवाल ऐसे रहे जो करेंट अफेयर्स और गवर्नमेंट पालिसी से रिलेटेड रहे.

-इन सवालों ने तय किया कि किताबों से बाहर निकलकर भी बहुत कुछ पढ़ना और समझना होगा.

-इस प्रश्न पत्र ने कोचिंग में तैयारी करने वालों को जबरदस्त झटका दिया है.

-वहीं सीसैट के पोर्शन ने हिन्दी पट्टी वालों को राहत दी है.

-इसमें पैसेज से जुड़े सवाल बड़े बड़े न होकर छोटे रहे.

-वहीं रीजनिंग के सवाल भी छोटे ही रखे गए.

-डाईग्राम से भी ज्यादा सवाल पूछे गए.

-80 सवालों के सीसैट के प्रश्न पत्र में मैथ पूछा गया, लेकिन इंग्लिश से जुड़े सवाल नहीं रहे.

कॉलिंग

सामान्य अध्ययन का प्रथम प्रश्न पत्र कुछ लोगों को परंपरागत लगा तो कुछ लोगों को थोड़ा हटकर लगा. लेकिन इसमें सवाल बहुत तार्किक ढंग से पूछे गए.

-राधिका साहू

पहले प्रश्न पत्र में कई सारे सवाल ऐसे रहे, जिन्हें पढ़ना और समझना टफ रहा. लेकिन सिविल सर्विसेस जैसे एग्जाम में ऐसे सवालों के लिए हम पहले से ही तैयार थे.

-दिव्या जौहरी

सीसैट का प्रश्न पत्र सामान्य रहा. इस पोर्शन में पूछे गए सवालों को पढ़ने, समझने और उन्हें हल करने में ही समय निकल गया. सीसैट ने अबकी थोड़ी राहत तो दी ही है.

-बृजेश मौर्या