नई दिल्ली (पीटीआई)। भारत के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने शुक्रवार को सरकार को एक पत्र भेजकर जस्टिस एस ए बोबडे को अगला चीफ जस्टिस बनाने की सिफारिश की है। आधिकारिक सूत्रों ने पीटीआई को बताया कि जस्टिस गोगोई ने मिनिस्ट्री ऑफ लॉ एन्ड जस्टिस को पत्र लिखकर जज बोबडे को अगला मुख्य न्यायाधीश बनाने की सिफारिश की है। बता दें कि जस्टिस गोगोई ने 3 अक्टूबर, 2018 को भारत के 46वें मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ ली थी और 17 नवंबर का उनका कार्यकाल खत्म हो जाएगा। मुख्य न्यायाधीश के रूप में जस्टिस गोगोई का कार्यकाल 13 महीने और 15 दिनों का है, जबकि जस्टिस बोबड़े 18 नवंबर को मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ ले सकते हैं और उनका कार्यकाल लगभग 18 महीने का होगा।

अयोध्या मामला : सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी, फैसला सुरक्षित

गोगोई के कार्यकाल में ही अयोध्या मामले पर आ सकता फैसला

नियमों के मुताबिक, भारत के मुख्य न्यायाधीश की नियुक्ति सर्वोच्च न्यायालय के सबसे वरिष्ठ जज के रूप में होनी चाहिए जो कार्यालय के लिए उपयुक्त माने जाते हैं। प्रक्रिया के तहत, मुख्य न्यायाधीश की सिफारिश मिलने के बाद कानून मंत्री इसे प्रधानमंत्री के सामने रखते हैं, जो इस मामले पर राष्ट्रपति को सलाह देते हैं। दूसरी ओर यह अनुमान लगाया जा रहा है कि गोगोई के कार्यकाल में ही अयोध्या में राजनीतिक रूप से संवेदनशील राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद के मामले में फैसला आ सकता है। सुप्रीम कोर्ट में इस मामले मामले की सुनवाई पूरी गई है और अदालत ने इस पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है।

Posted By: Mukul Kumar

National News inextlive from India News Desk