- आसमान पर छाये बादलों ने बढ़ायी ठंड, कोल्ड फ्रंट का है असर

- तकरीबन आधे उत्तर प्रदेश में बारिश की संभावना

varanasi@inext.co.in

VARANASI

मौसमी मिजाज ने एक बार फिर पलटी मारी और शहर पर ठंड का असर तारी हो गया. पिछले कुछ दिनों से अच्छी धूप खिल रही थी. गर्म कपड़े शरीर को छोड़ कर ट्रंक की राह पकड़ने वाले थे कि अचानक बुधवार को आसमान पर बादलों का घेरा दिखायी देने लगा. उस पर सन-सन कर बहती ठंडी हवाएं चल पड़ी. नतीजन गर्म कपड़े फिर से लोगों के कंधों पर चढ़े नजर आये. जैकेट, स्वेटर, मफलर, टोपी सब के सब फिर से दिखायी देने लगे. बादलों ने कहीं कहीं बूंदे भी गिरायीं.

सुबह से ही बन रहा था माहौल

आसमान पर बादलों की घेरेबंदी सुबह से शुरू हो गयी थी. पर बीच में बादल कुछ कमजोर हुए और सूर्य नारायण की किरणें धरती पर पहुंची. पर यह स्थिति बहुत देर तक कायम नहीं रही. बादलों ने शिकंजा कसना शुरू किया और चार बजते-बजते सूरज को पूरी तरह अपने पीछे कर दिया. सूरज बादलों के पीछे गये और ठंड का असर महसूस होने लगा. उस पर हवाओं ने ठंड को और बढ़ा दिया.

कोल्ड फ्रंट का है असर

मौसम विज्ञानियों ने एक दो दिनों में अच्छी बारिश की संभावना व्यक्त की है. प्रो एसएन पाण्डेय बताते हैं कि एक हफ्ते के मौसम पर नजर डालें तो शुक्र, शनि और रवि को अधिकतम तापमान बढ़ा हुआ था. उन दिनों वेस्टर्न डिस्टर्बेस का वार्म फ्रंट पास हो रहा था. उसके बाद वार्म सेक्टर की बारी आयी. अब इस समय कोल्ड फ्रंट का असर है. कोल्ड फ्रंट की विशेषता है कि इसमें ठंडी हवाएं चलती हैं. इसके अलावा हरियाणा पर सायक्लोनिक सर्कुलेशन तैयार हुआ है. महाराष्ट्र की ओर से आये एक वाइड क्लाउड बैंड ने तकरीबन आधे उत्तर प्रदेश को कवर कर रखा है. इन सब कारणों के चलते अच्छी बारिश की संभावना बन रही है. पूरे पूर्वी उत्तर प्रदेश में बारिश होगी.

तापमान एक नजर

मौसम विभाग ने 24 घंटे के तापमान में मामुली गिरावट दर्ज की. मैक्सिमम टेंप्रेचर 24.0 व मिनिमम टेंप्रेचर 13.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.