लखनऊ (ब्यूरो)।  सीएम योगी ने कहा कि रूस के सुदूर पूर्वी क्षेत्र में लगभग 8 मिलियन हेक्टेयर क्षेत्र में कृषि एवं संबद्ध क्षेत्र के विकास की संभावनाएं मौजूद हैं, जो हम सभी के लिए निवेश की संभावनाओं के अवसर प्रदान करेगा। भारत तथा रूस के विगत सात दशकों से प्रगाढ़ संबंध रहे हैं। आजादी के बाद भारत की प्रगति में रूसी सहयोग का बड़ा हाथ रहा है। रक्षा, औद्योगिक तथा परमाणु क्षेत्र में हमें रूस का भरपूर सहयोग मिला है। हम एक दूसरे के स्ट्रेटजिक पार्टनर के रूप में स्थापित हुए हैं।

यूपी में भी किया सहयोग
सीएम योगी ने कहा कि पूरे देश की तरह यूपी में भी इस सहयोग के अनेक उदाहरण हैं। वर्ष 1968 में ओबरा तथा 1971 में हरदुआगंज में सोवियत संघ के सहयोग से थर्मल पावर प्लांट का निर्माण किया गया। रूसी कंपनियों द्वारा टेहरी एवं कोटेश्वर हाइड्रोइलेक्ट्रिक प्लांट के निर्माण में सहयोग प्रदान किया गया। योगी ने कहा कि देश में फूड प्रोसेसिंग के स्तर को बढ़ाने, शुद्ध एवं पौष्टिक खाद्य प्रदार्थों की उपलब्धता बनाए रखने तथा किसानों को उपज का सही दाम दिलाने के उद्देश्य से बड़ी संख्या में मेगा फूड पार्क तथा कोल्ड चेन स्थापित किए जा रहे हैं। इसी तरह यूपी ऑफ ग्रिड विकेंद्रीकृत सौर प्रणाली संयंत्रों यथा सोलर स्ट्रीट लाईट, सोलर आर-ओ वाटर प्लांट, सोलर पावर पैक, सोलर मिनी-ग्रिड पावर प्लांट एवं सोलर हाई-मास्ट की स्थापना में अग्रणी है। ऑफ ग्रिड विकेंद्रीगृत सौर प्रणाली संयंत्र, सुदूर पूर्वी रूस के क्षेत्रों में सस्ती विद्युत आपूर्ति में कारगर साबित हो सकता है। इस दौरान केंद्रीय उद्योग मंत्री पीयूष गोयल, रूस के उप मुख्यमंत्री यूरी त्रुतनेवा, रूस के गवर्नर, व्लादिवोस्टोक के मुख्यमंत्री समेत रूस एवं भारत के कई उद्यमी मौजूद रहे।
लोकभवन में बुलेटप्रूफ होंगे सीएम कार्यालय के शीशे
लोकभवन में दिखेगी पूरे प्रदेश की झलक
रूस के सचिवालय की तरह अब राजधानी स्थित लोकभवन में भी पूरे प्रदेश की झलक नजर आएगी। इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी गयी हैं। राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना वन डिस्ट्रिक्ट-वन प्रोडक्ट का पूरा शो-केस तैयार करके उसे लोकभवन में प्रदर्शित किया जाएगा ताकि यहां आने वाले आगंतुकों को एक नजर में पूरे यूपी के बारे में जानकारी मिल सके।
lucknow@inext.co.in

National News inextlive from India News Desk